रणजी ट्रॉफी : बुमराह ने गुजरात को फाइनल में पहुंचाया

रणजी ट्रॉफी : बुमराह ने गुजरात को फाइनल में पहुंचाया

नागपुर : जसप्रीत बुमराह की बेहतरीन गेंदबाजी (29 रन देकर छह विकेट) की बदौलत गुजरात ने झारखंड को 123 रन से हराकर रणजी ट्रॉफी के फाइनल में स्‍थान बना लिया है. गुजरात की इस जीत में उसकी तेज गेंदबाज जोड़ी जसप्रीत बुमराह और आरपी सिंह का खास योगदान रहा जिन्‍होंने दूसरी पारी में झारखंड को महज 111 रन पर ढेर कर दिया. बुमराह के आदर्श सहयोगी की भूमिका निभाते हुए आरपी सिंह ने 25 रन देकर तीन विकेट लिए. इन दोनों की गेंदबाजी का ही कमाल था कि 235 रन के लगभग आसान लक्ष्‍य के सामने सौरभ तिवारी के नेतृत्‍व वाली झारखंड टीम बिखर गई और 123 रन की हार के साथ उसका पहली बार रणजी फाइनल में पहुंचने का सपना चकनाचूर हो गया.

खास बात यह रही कि मैच में पहली पारी के आधार पर 18 रन से पिछड़ने के बाद गुजरात टीम ने यह जीत हासिल की है. मैच में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए पार्थिव पटेल के नेतृत्‍व वाली गुजरात टीम ने पहली पारी में 390 रन बनाए, जिसके जवाब में झारखंड की पहली पारी 408 रन पर समाप्‍त हुई. पहली पारी में गुजरात के लिए प्रियंक पांचाल (149 रन) और झारखंड के लिए इशांक जग्‍गी (129रन) ने शतक जमाए. झारखंड की पहली पारी में आरपी सिंह ने छह विकेट हासिल किए.

पहली पारी के आधार पर 18 रन से पिछड़ने वाली गुजरात की दूसरी पारी भी 252 रन पर समाप्‍त हुई. इस तरह जीत के लिए झारखंड को जीत के लिए 235 रन की जरूरत थी. हर किसी को उम्‍मीद थी कि इस सीजन में शानदार प्रदर्शन करने वाली झारखंड की टीम यह लक्ष्‍य हासिल कर पहली बार फाइनल में पहुंच जाएगी लेकिन बुमराह के नेतृत्‍व में गुजरात के गेंदबाजों के इरादे कुछ और ही थे. दूसरी पारी में झारखंड की शुरुआत ही खराब हुई. दोनों ओपनर प्रत्‍यूष सिंह और स‍ुमित कुमार बिना खाते खोले ही आउट हो गए. कप्‍तान सौरभ तिवारी भी कुछ खास नहीं कर पाये और मात्र 17 रन बनाकर आरपी सिंह के शिकार बन गए. झारखंड की दूसरी पारी में सर्वाधिक कौशल सिंह ने 24 रन बनाए. उनके अलावा चार बल्‍लेबाज विराट सिंह, सौरभ तिवारी, ईशान किशन और विकास सिंह की दोहरी रनसंख्‍या तक पहुंच पाए.