मैक्स लाइफ और एचडीएफसी लाइफ के विलय का प्रस्ताव

मैक्स लाइफ और एचडीएफसी लाइफ के विलय का प्रस्ताव

नई दिल्ली : भारत के बीमा क्षेत्र में अब तक के सबसे बड़े विलय एवं अधिग्रहण के सौदे में एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ ने आज मैक्स लाइफ और मैक्स फिनांशियल सर्विसेज के साथ विलय का प्रस्ताव किया है ताकि एक लाख करोड़ रुपए से अधिक की परिसंपत्ति के साथ एक इकाई तैयार की जा सके। एचडीएफसी ने स्टाक एक्सचेंज एनएसई को बताया, ‘एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड और मैक्स फिनांशियल सर्विसेज लिमिटेड के निदेशक मंडलों ने परस्पर बातचीत की गोपनीयता, निजता और यथा स्थिति रखने के समझौता के प्रस्ताव को मंजूरी दी है जिसके अंतर्गत मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड और मैक्स फिनांशियल सर्विसेज लिमिटेड को विलय की प्रक्रिया के तहत एचडीएफसी लाइफ में जोड़ने की संभावना तलाशी जाएगी।’ एचडीएफसी लिमिटेड ने एक बयान में कहा कि मैक्स लाइफ और मैक्स फिनांशियल सर्विसेज के एक योजना के तहत एचडीएफसी लाइफ में विलय की संभावना तलाशी जाएगी। विलय के बाद बनी इकाई का कुल प्रीमियम कारोबार करीब 26,000 करोड़ रुपए वार्षिक तक पहुंच जाएगा और इसके प्रबंधनाधीन परिसंपत्ति एक लाख करोड़ रुपए से अधिक होगी। निजी जीवन बीमा क्षेत्र में अभी सिर्फ आईसीआईसीआई प्रुडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस के पास की एक लाख करोड़ रपए की प्रबंधनाधीन परिसंपत्ति है। एडिनबर्ग की स्टैंडर्ड लाइफ पीएलसी की एचडीएफसी लाइफ में 35 प्रतिशत हिस्सेदारी है जिसमें एचडीएफसी की की हिस्सेदारी 61.63 प्रतिशत है।