केंद्र सरकार ने किसानों के हितों से कोई समझौता नहीं किया: पाठक

केंद्र सरकार ने किसानों के हितों से कोई समझौता नहीं किया: पाठक

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने भूमि अधिग्रहण अध्यादेश को लेकर किये जा रहे भ्रामक प्रचार पर अक्रामक शैली अख्तियार करते हुए कहा किसानों के मुवाबजा सम्बन्धी किसी भी हित से कोई समझौता नही किया गया। पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमितशाह जी ने सत्यपाल मलिक पूर्व सांसद के संयोजकत्व में एक समिति का निर्माण किया है जो भूमिअधिग्रहण पर किसान संगठनों व अन्य संस्थाओं/ व्यक्तिओं के सुझाव प्राप्त करेगी। प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 लक्ष्मीकान्त बाजपेयी ने समस्त क्षेत्रीय अध्यक्ष/ सांसद/विधायक /प्रदेश पदाधिकरी/ जिलाध्यक्षों से भी सुझाव/मत देने का आग्रह इस समिति को किया है। 

उन्होंने कहा कि 32 राज्यों की मांग पर लाया गया भूमिअधिग्रहण अध्यादेश पर सदन में सरकार विधेयक के हर पहलू पर चर्चा कराने को तैयार है, किन्तु कुछ लोग इस पूरे मामले को राजनैतिक रंग देने में जुटे है। मोदी सरकार किसानों की सार्वधिक हितैशी सरकार है।  अध्यादेश के प्रकरण पर अपने कार्यकत्र्ताओं से सुझाव मांगते हुए प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 लक्ष्मीकान्त बाजपेयी ने पार्टी के जिलाध्यक्ष , प्रदेश के पदाधिकारियों को इस समिति के सदस्यों का ई-मेल का पता और मोबाइल नम्बर देते हुए आग्रह किया है कि भूमिअध्यादेश सम्बन्धी सुझाव इस समिति के सदस्यों को प्रेषित करें। 

श्री पाठक ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी किसान और गांव उन्नति के लिए प्रतिबद्ध है। जिस तरह से भूमि सशोधन अध्यादेश पर विपक्षी मोदी सरकार को घेरने में जुटे है उससे विचलित हुए वगैर पार्टी जहां एक ओर इस अध्यादेश के लागू होने से किसानों को होने वाले फायदे को गिनायेगी वहीं दूसरी ओर नेतृत्व इस सम्बध में कार्यकत्र्ताओं  के सुझावों का भी संकलन करेगा। हम लोकतंत्र लोकतंात्रिक मूल्यों में आस्था रखते है किसी भी तरह के सकारात्मक सुझावों का पार्टी लगातार आदर और सम्मान करती है। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India