फिक्सिंग के संदेह पर बांग्लादेशी क्रिकेटर की ‘घर वापसी’

फिक्सिंग के संदेह पर बांग्लादेशी क्रिकेटर की ‘घर वापसी’

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की संयुक्त मेजबानी में खेले जा रहे आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2015 पर भी मैच फिक्सिंग का साया मंडराता दिख रहा है। बांग्लादेश के तेज गेंदबाज अल-अमीन-हुसैन को देश वापस बुला लिया गया है। बांग्लादेशी मीडिया के मुताबिक अमीन को वर्ल्डकप के दौरान एक भारतीय बुकी से मुलाकात की वजह से ये सजा मिली है। हालांकि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने इन तमाम आरोपों का खंडन किया है। रविवार को टीम मैनेजमेंट ने एक बयान जारी कर कहा था कि 25 साल के अल-अमीन-हुसैन को टीम कर्फ्यू तोड़ने के आरोप में वापस बुलाया गया है।

बांग्लादेशी मीडिया के मुताबिक अमीन कुछ देर के लिए टीम से गायब हुए। जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वो अपना सिम कार्ड लेने गए थे। उसके बाद उन्होंने कहा कि वो पार्टी में गए थे। उनके पैदल वापस लौटने पर भी सवाल उठाए गए क्योंकि वे टैक्सी ले सकते थे। इसका वो गोलमोल जवाब दे रहे थे। तब ये दावा किया गया कि वो किसी भारतीय बुकी से मिले थे। बांग्लादेशी मीडिया के मुताबिक ये वही भारतीय बुकी है जिससे चेन्नई में हुसैन ने तब मुलाकात की थी जब वे अपना एक्शन सुधारने के लिए आए थे।

गौरतलब है कि कल ही बांग्लादेश की टीम मेलबर्न पहुंची है क्योंकि उसका अगला मुकाबला गुरुवार को श्रीलंका से है। बांग्लादेश के खेमे में इस घटना से बाद से मायूसी छाई हुई है। ये बात किसी के गले नहीं उतर रही कि किसी खिलाड़ी को महज टीम कर्फ्यू तोड़ने के आरोप में वापस बुला लिया गया हो। साफ है कि बांग्लादेशी मीडिया के दावे सिरे से नहीं नकारे जा सकते।