वेस्टइंडीज ने ज़िम्बाब्वे को 73 रनों से हराया

वेस्टइंडीज ने ज़िम्बाब्वे को 73 रनों से हराया

कैनबरा : वेस्टइंडीज ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप मैच में आज यहां जिंबाब्वे को डकवर्थ लुइस पद्धति के आधार पर 73 रन से हराया। इससे पहले क्रिस गेल ने अपने आलोचकों को करारा जवाब देते हुए  विश्व कप का पहला दोहरा शतक जड़ा और इस बीच मलरेन सैमुअल्स (नाबाद 133) के साथ दूसरे विकेट के लिये एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की रिकार्ड साझेदारी निभायी जिससे वेस्टइंडीज ने विश्व कप पूल बी के मैच में जिम्बाब्वे के खिलाफ दो विकेट पर 372 रन का विशाल स्कोर बनाया।

खराब फार्म के कारण आलोचकों के निशाने पर रहे गेल ने अपनी 147 गेंद पर 215 रन बनाये जिसमें दस चौके और 16 छक्के शामिल हैं। वह वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले कुल चौथे और पहले गैर भारतीय बल्लेबाज हैं। गेल से पहले भारत के सचिन तेंदुलकर (नाबाद 200), वीरेंद्र सहवाग (219) और रोहित शर्मा (209 और 264 रन) ने वनडे में दोहरे शतक लगाये थे। गेल ने विश्व कप में सर्वाधिक स्कोर का नया रिकार्ड बनाया। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के गैरी कर्स्टन का रिकार्ड तोड़ा जिन्होंने यूएई के खिलाफ 1996 में रावलपिंडी में नाबाद 188 रन बनाये थे। गेल ने यह पारी तब खेली जबकि वेस्टइंडीज ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए दूसरी गेंद पर ही ड्वेन स्मिथ (शून्य) का विकेट गंवा दिया था। गेल पारी की आखिरी गेंद पर आउट हुए। उन्होंने सैमुअल्स के साथ दूसरे विकेट के लिये 372 रन की साझेदारी करके वनडे का नया रिकार्ड बनाया। इससे पहले का रिकार्ड तेंदुलकर और द्रविड़ के नाम पर था जिन्होंने 1999 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हैदराबाद में 331 रन जोड़े थे। गेल पिछले कुछ समय से रन बनाने के लिये जूझ रहे थे जिसके कारण उनकी काफी आलोचना हो रही थी। बायें हाथ के इस बल्लेबाज पर इसका काफी दबाव था यही वजह रही कि उन्होंने काफी धीमी शुरुआत की लेकिन आखिर में उनके तूफानी तेवरों के कारण वेस्टइंडीज आखिरी 13 ओवरों में 195 रन बनाने में सफल रहा। इनमें से 152 रन आखिरी दस ओवरों में बने।

गेल ने पहले 50 रन 51 गेंदों पर पूरे किये जबकि वह 105वीं गेंद का सामना करके शतक तक पहुंचे। यह वनडे में उनका 22वां शतक है। इसके बाद उन्होंने केवल 21 गेंद पर अगला पचासा ठोका और फिर जल्द ही अपना पिछला सर्वोच्च स्कोर (नाबाद 153 रन) पार किया। गेल ने 150 से 200 रन तक पहुंचने के लिये केवल 12 गेंद खेली और 138 गेंदों पर अपना पहला दोहरा शतक पूरा किया। वह दुनिया के पहले ऐसे बल्लेबाज बन गये हैं जिन्होंने टेस्ट में तिहरा, वनडे में दोहरा और टी20 में शतक जड़ा हो। भाग्य ने भी गेल का साथ दिया क्योंकि जब वह 121 रन पर खेल रहे थे तब टिनसे पेनयांगरा की गेंद पर उन्होंने कैच थमा दिया लेकिन वह नोबाल निकल गयी। गेल ने उन्होंने स्पिनर तफादजवा कामुनगोजी के एक ओवर में दो चौकों और दो छक्कों की मदद से 21 रन बटोरे और फिर सीन विलियम्स के अगले ओवर में तीन छक्के जड़कर विश्व कप और वेस्टइंडीज की तरफ से वनडे में सर्वाधिक स्कोर का नया रिकार्ड बनाया। टेंडाई चतारा की गेंद चार रन के लिये भेजकर गेल ने अपना दोहरा शतक पूरा किया। वेस्टइंडीज की तरफ से इससे पहले वनडे में सर्वोच्च स्कोर का रिकार्ड विव रिचर्डस (189) के नाम पर था। दूसरे छोर पर सैमुअल्स शुरू से रन बनाने के लिये जूझते रहे लेकिन बाद में उन्होंने गेल से सबक लेकर कुछ अच्छे शाट लगाये। सैमुअल्स ने 95 गेंदों का सामना करके अपना अर्धशतक पूरा किया था। उन्होंने अपनी नाबाद पारी में कुल 156 गेंद खेली तथा 11 चौके और तीन छक्के लगाये। उन्होंने पारी के 49वें ओवर में पेनयांगरा पर 22 रन बटोरकर अपना स्ट्राइक रेट सुधारा। चतारा की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण हैमिल्टन मासकादजा पारी की आखिरी दो गेंद करने के लिये आये। गेल ने आखिरी गेंद पर मिडविकेट पर कैच थमाया।