मांझी का साथ देने वाले सात मंत्री जेडीयू से निलंबित

मांझी का साथ देने वाले सात मंत्री जेडीयू से निलंबित

पटना। जनता दल यूनाइटेड ने बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का साथ देने वाले सात मंत्रियों को पार्टी से निलंबित कर दिया है। इन मंत्रियों ने पार्टी लाइन से बाहर जाकर जीतन राम मांझी को समर्थन दिया। इसकी वजह से जीतन राम लगातार जेडीयू को आंखें दिखा रहे हैं।

जेडीयू प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि जेडीयू ने उन सभी मंत्रियों को पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। इन पर आरोप है कि इन्होंने पार्टियों की नीति के विरोध में जीतन राम मांझी का समर्थन बरकरार रखा और पार्टी विरोधी कार्यों में लिप्त रहे। जिन मंत्रियों को निलंबित किया गया है उनमें मांझी के बड़े समर्थक माने जाने वाले नरेंद्र सिंह के अलावा शाहिद अली, महाचंद्र प्रसाद, वृषण पटेल, नीतीश मिश्रा, सम्राट चौधरी और भीम सिंह शामिल हैं। ये सभी मांझी सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं।

गौरतलब है कि पार्टी में विवाद होने के बाद मांझी ने नीतीश समर्थक 15 मंत्रियों को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया था। जिसके बाद पार्टी ने मांझी को बर्खास्त करते हुए विधायक दल की बैठक में नीतीश कुमार को अपना नेता चुन लिया था। फिलहाल राज्यपाल ने जीतनराम मांझी को 20 फरवरी तक विधानसभा में बहुमत साबित करने का समय दिया है।