इंगलैण्ड को हराकर ऑस्ट्रेलिया फाइनल में

इंगलैण्ड को हराकर ऑस्ट्रेलिया फाइनल में

होबार्ट : स्टीवन स्मिथ ने विषम परिस्थितियों में नाबाद 102 रन की कप्तानी पारी खेलकर आज यहां इयान बेल के शतकीय प्रयास पर पानी फेरा जिससे आस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड पर तीन विकेट से जीत दर्ज करके त्रिकोणीय एकदिवसीय क्रिकेट श्रृंखला के फाइनल में पहुंचने के साथ भारत को भी ‘लाइफलाइन’ दी। भारत के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में अपनी बल्लेबाजी और कप्तानी से प्रभावित करने वाले स्मिथ पहली बार वनडे में आस्ट्रेलिया की अगुवाई कर रहे थे और उन्होंने फिर से दिखाया कि इस जिम्मेदारी में वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं। उन्होंने अपनी पारी में 95 गेंद खेली तथा छह चौके और एक छक्का लगाया। इससे आस्ट्रेलिया ने 49.5 ओवर में सात विकेट पर 304 रन बनाकर अपना विजय अभियान जारी रखा। स्मिथ की इस शतकीय प्रयास से बेल की 141 रन की जानदार पारी भी बेकार चली गयी। बेल ने अपने करियर का सर्वोच्च स्कोर बनाया। पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाले इंग्लैंड केवल चार बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे जिनमें बेल के अलावा जो रूट ही उल्लेखनीय योगदान दे पाये। इंग्लैंड ने आठ विकेट पर 303 रन बनाये थे। आस्ट्रेलिया की इस जीत से भारत की फाइनल में पहुंचने की संभावनाओं को बल मिला है, लेकिन इसके लिये उसे अपने अगले दोनों मैच में जीत दर्ज करनी होगी। आस्ट्रेलिया अब तीन मैच में 13 अंक लेकर खिताबी मुकाबले में पहुंच चुका है जबकि इंग्लैंड के तीन मैच में पांच अंक हैं। भारत ने अभी तक दोनों मैच गंवाये हैं।

स्मिथ ने यहां से जिम्मेदारी भरी पारी खेली और कप्तान के रूप में अपने पदार्पण मैच में शतक जड़ने वाले दूसरे आस्ट्रेलियाई कप्तान बने। उनसे पहले माइकल हसी ने यह कारनामा किया था। स्मिथ दुनिया के पहले ऐसे खिलाड़ी बन गये हैं जिन्होंने टेस्ट और वनडे में कप्तान के रूप में अपने पहले मैच में शतक लगाये।

स्मिथ ने इस बीच ग्लेन मैक्सवेल के साथ चौथे विकेट लिये 69 रन, जेम्स फाकनर के साथ पांचवें विकेट के लिये 55 रन और ब्रैड हैडिन के साथ छठे विकेट के लिये 81 रन की महत्वपूर्ण साझेदारियां की। आखिरी क्षणों में हालांकि हैडिन और मोएजेस हेनरिक्स के विकेट गंवाने से मैच थोड़ा रोमांचक बन गया था लेकिन स्मिथ एक छोर पर जमे रहे। उन्होंने जेम्स एंडरसन पर छक्का जड़कर अपना स्कोर 98 रन पहुंचाया और फिर क्रिस वोक्स के अगले ओवर में एक रन लेकर वनडे में अपना तीसरा शतक पूरा किया। इंग्लैंड की तरफ से मोईन अली, वोक्स और फिन ने दो दो विकेट लिये। इससे पहले इंग्लैंड की पारी बेल के इर्द गिर्द घूमती रही जिन्होंने अपने करियर का चौथा शतक लगाया। भारत के खिलाफ नाबाद 88 रन बनाने वाले बेल ने अपनी 125 गेंद की पारी में 15 चौके और एक छक्का जमाया।

बेल को इसके बाद जो रूट के रूप में अच्छा साथी मिला जिनके साथ उन्होंने तीसरे विकेट के लिये 121 रन जोड़े। आस्ट्रेलिया के मध्यम तेज गेंदबाज गुरिंदर संधू (49 रन देकर दो विकेट ) ने बेल को 43वें ओवर में पवेलियन भेजा । एक गेंद बाद संधू ने कप्तान इयोन मोर्गन को खाता खोलने का मौका दिये बिना आउट कर दिया । दूसरी ओर अपना आठवां वनडे अर्धशतक जमाने वाले रूट को पैट कमिंस ने पवेलियन लौटाया ।

विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर ( 25 ) ने तेजी से रन बनाने की कोशिश की लेकिन आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने डैथ ओवरों में बेहतर प्रदर्शन किया । आखिरी पांच ओवर में सिर्फ 27 रन बने जबकि तीन विकेट भी गिरे ।