भारत ने ठुकराई नो फ्लाइंग जोन की बात

भारत ने ठुकराई नो फ्लाइंग जोन की बात

ओबामा के भारत दौरे पर अमरीका की शर्तें ही शर्तें 

नई दिल्ली। अमरीकी राष्ट्रपति के भारत दौरे को लेकर अमरीका और भारत दोनों देशों की सुरक्षा एजेंसियां मुस्तैद हैं, लेकिन भारत ने अमरीकी सुरक्षा एजेंसी का एक सुझाव मानने से इनकार कर दिया। अमरीकी की सुरक्षा टीम ने भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को सुझाव दिया था कि 26 जनवरी को राजपथ के आस-पास के 5 किलोमीटर के दायरे में कोई विमान नहीं उड़ना चाहिए और इस क्षेत्र को नो-फ्लाइंग जोन घोषित कर दिया जाए। जिसे भारतीय अधिकारियों ने मानने से इनकार कर दिया। 

भारत ने अमरीकी सुरक्षा टीम को बताया कि यह गणतंत्र दिवस पर रिवाज है कि राजपाथ पर फ्लाइ-पास्त होता है। वैसे राजपाथ पर व्यवसायिक विमानों के लिए नो-फ्लाई जोन होता है। इसी वजह से ओबामा की सुरक्षा टीम को कह दिया गया कि यह संभव ही नहीं है। भारतीय सुरक्षा एजेंसी के सूत्रों की मानें तो अभी भी ओबामा की सुरक्षा टीम सिविल एविएशन विभाग से इस मामले में संपर्क साधे हुए है लेकिन भारतीय सेना के अधिकारियों ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है।

इससे पहले अमरीकी सुरक्षा एजेंसियों ने मांग की थी ओबामा की यात्रा के दौरान सेंट्रल दिल्ली को तीन दिनों के लिए आमजन के लिए बंद कर दिया जाए। इससे साथ ही आगरा-दिल्ली हाईवे को भी बंद करने की मांग की थी।

सूत्रों के मुताबिक, ओबामा की यात्रा से पहले अमरीकी दूतावास के अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट भेजी है, जिसमें बताया गया है कि दिल्ली की हवा तय मानकों से बहुत प्रदूषित है, जिससे फेफड़ों पर बुरा असर पड़ता है। इसके चलते ओबामा अपनी यात्रा के दौरान खुले वातावरण में रहने से बचेंगे।

परेड में ओबामा को गणतंत्र दिवस समारोह में परेड देखने के लिए करीब 2 घंटे लगातार खुले में ही बैठना होगा। सूत्रों की माने तो ओबामा किसी बुलेटप्रूफ केबिन में बैठ कर परेड देखेंगे। इससे उनकी सुरक्षा भी ठीक रहेगी और वह प्रदूषण से भी बचेंगे। हालांकि, अभी तक अमरीकी दूतावास से इस बात की पुष्टि नहीं हुई है। 

अमरीकी दूतावास ने दिल्ली में हवा में प्रदूषण पर रिपोर्ट तैयार की थी, जिसमें बताया गया था कि यहां की हवा से सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। दिल्ली के प्रदूषण के अलावा भी इस यात्रा में एक और परेशानी है। 

बराक ओबामा का प्रोटोकॉल उन्हें 20 मिनट ही एक जगह बैठने देता है और गणतंत्र दिवस की परेड के लिए उन्हें भारतीय राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ दो घंटे एक जगह बैठे रहना होगा। दो घंटे के इस लंबे कार्यक्रम से अमरीकी सुरक्षा एजेंसी को आपत्ति है।

ओबामा के आगरा का ताज महल देखने जाने का कार्यक्रम है। इसे देखते हुए 26 और 27 जनवरी को आगरा एक्सप्रेस हाईवे पूरी तरह बंद रहेगा। उप्र सरकार ने इस मार्ग पर सुरक्षा की जांच अभी से शुरू कर दी है। ओबामा को तोहफे में कर्नाटक के प्रसिद्ध "चन्नपट्टन्ना खिलौने" भी भेंट किए जाएंगे।

India