लखनऊ महोत्सव  बेबी शो का आयोजन

लखनऊ महोत्सव बेबी शो का आयोजन

लखनऊ। प्रगति पर्यावरण संरक्षण समिति के तत्वावधान में राजकीय इंटर कालेज निशातगंज के प्रांगण मे चल रहे यू़0पी0महोत्सव की तेरहवीं सांस्कृतिक संध्या मे बेबी शो के साथ फिल्मी गीत व नृत्य की बयार बही।

संगीत से सजे कार्यक्रम मे अमित कुमार ने रात कली एक ख्वाब मे आयी और गले का हार बनी गीत को सुनाकर श्रोताओं का मन मोहा।,गायक राहुल गुप्ता ने अपनी पुकशिश आवाज मे हम तेरे बिना अब रह नही सकते तेरे बिना क्या वजूद मेरा और तेरे बिन तेरे बिन तेरे बिन कैसे जिया मै गीत को सुनाकर श्रोताओं को मंत्र मुग्ध कर दिया। इसी क्रम मे सुरभि शुक्ला ने अपनी सुमधुर आवाज मे दिल चीज क्या है आप मेरी जान लीजिए बस एक बार मेरा कहा मान लीजिए.......सीसा हो या दिल हो  आखिर टूट जाता है टूट जाता है.......कहते है मुझको प्यार से इण्डिया वाले .....गीत को सुनाकर कलाप्रेमी श्रोताओं का दिल जीत लिया।मन को मोहने वाली इन प्रस्तुतियों के क्रम मे जिशान हैदर ने अपनी महकती हुई आवाज मे चांदी जैसा रंग है तेरा सोने जैसे बाल,दीवारों से मिलकर रोना अच्छा लगता है,कोई मौसम हो बहक जाने का मौसम आ गया  एवं यूं मेरे खत का जवाब आया गजल को सुनाकर कलाप्रेमी श्रोताओं को मुत्र मुग्ध कर दिया।

कार्यक्रम मे बेबी शो भी हुआ जिसमे मुस्कान,आशिक,अन्यिका मिश्रा,माही अग्रवाल,मोदित अग्रवाल,मौली मिश्रा,तुषार सोनकर,तनिष्क बनर्जी,शना,अन्शिका मिश्राा,रोजी मुस्कान,चिया सिंह और आदिल प्रांशू ने विभिन्न रूप धारण कर दर्शकों का मन मोहा।संगीत से सजे कार्यक्रम के अगले प्रसून में श्वेच्छा सिंह और रोहित शुक्ला ने मधुवन मे कन्हैया गीत पर नृत्य प्रस्तुत कर कलाप्रेमी दर्शकों की असंख्य तांलियां बटोरीं। इसी क्रम मे मीना,सुनील,सोहन,अक्क्षिता और स्वेता ने संयुक्त रूप से कहते हैं मुझको प्यार से इण्डिया वाले गीत पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों का  दिल जीता । इसी क्रम मे श्रेया निगम ने कजरारे कजरारे गीत पर नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों का मन मोहा।वहीं दूसरी ओर महोत्सव मे लगे झूलों पर बच्चों के साथ बडो ने भी आनन्द उठाया।

कार्यक्रम में कृष्णा नन्द राय ने सडक सुरक्षा पर आधारित स्वरचित कविता गति धीमी कर लीजिए जहां कहीं हो मोड को सुनाकर श्रोताओं को सडक सुरक्षा के प्रति आगाह किया। इस मौके पर प्रगति पर्यावरण संरक्षण समिति  के उपाध्यक्ष एन0बी0 सिंह, प्रिया पाल सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों के अलावा तमाम कलाप्रेमी दर्शक उपस्थित थे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India