एक ही जाति के 2 लोगों को भारत रत्न क्यों: मायावती

एक ही जाति के 2 लोगों को भारत रत्न क्यों: मायावती

नई दिल्ली। बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आज केंद्र सरकार और राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला। माया ने अटल बिहारी वाजपेयी और मालवीय को भारत रत्न देने पर सवाल उठाते हुए कहा कि एक ही जाति के दो लोगों को भारत रत्न क्यों दिया गया। बाबा साहेब और कांशीराम को सम्मानित किया जाना चाहिए था। जातिवादी मानसिकता के चलते ये सम्मान नहीं दिया गया है।

माया ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि चुनाव के दौरान बीजेपी ने अच्छे दिन के सपने दिखाए और चुनाव जीतते ही वो कोरे सपने बनकर रह गए। कोई भी वादा पूरा होता नहीं दिख रहा। माया ने कहा कि देश में डीजल और पेट्रोल की कीमतें केंद्र सरकार के चलते नहीं बल्कि इनकी कीमतों में कमी आने से कम हुई है।

महंगाई सिर्फ कागजों पर कम हुई है। इस सरकार में ज्यादातर गरीब और अल्पसंख्यकों को नजरअंदाज किया जा रहा है। प्राइवेट सेक्टर को सारा काम दिया जा रहा है।

माया ने कहा कि इससे पहले की सरकारों का भी कामकाज सही नहीं है। कांशीराम की मृत्यु होने पर कांग्रेस ने कुछ नहीं किया। बीजेपी ने भी यही पक्षपात किया है। एक ही जाति से दो लोगों को भारत रत्न दे दिया है, लेकिन दलित और अन्य पिछड़े वर्ग से संबंधित किसी को भी सम्मानित नहीं किया है।