मदर डेयरी के सभी बूथों पर मिलेंगे अब जूट से बने कैरी बैग

मदर डेयरी के सभी बूथों पर मिलेंगे अब जूट से बने कैरी बैग

प्लास्टिक की थैलियों का उपयोग रोकने के लिये मदर डेयरी दिल्ली तथा एनसीआर में मौज़ूद अपने सभी मिल्क तथा  फ्रूट एण्ड वैजीटेबल बूथों पर पर्यावरण के अनुकूल जूट के कैरी बैग उपलब्ध करायेगी।

जूट के ये थैले बर्ड जूट और एक्सपोर्टस लिमिटेड, जो कि भारत सरकार के वस्त्र मंत्रालय के तहत एक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम है, से मंगवाये जायेंगे। जूट के थैले बेचने के इस कदम से देष में जूट की खेती सेे जुड़े लाखों-करोड़ों किसान भी लाभान्वित होंगे। 

मदर डेयरी के अधिकारियों की उपस्थिति में, वस्त्र मंत्री संतोश कुमार गंगवार द्वारा आज उद्योग भवन में हुये एक समारोह के दौरान इस ‘‘हरित पहल‘‘ को उद्घाटित किया गया। 

इस अवसर पर मदर डेरी फ्रूट एण्ड वैजीटेबल प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक, एस. नागराजन् ने कहा, ‘‘मदर डेयरी हमेशा से ही एक जि़म्मेदार संगठन रहा है जो पर्यावरण को सुरक्षित रखने में विष्वास रखता है। हम ऐसी एकमात्र कम्पनी हैं जो टोकन के ज़रिये दूध उपलब्ध कराती है और इस प्रकार बड़ी मात्रा में प्लास्टिक प्रयोग से बचती है। अपने उपभोक्ताओं को मामूली दामों पर जूट के कैरी बैग उपलब्ध करवाकर हम न केवल प्लास्टिक की थैलियों का एक पर्यावरण के अनुकूल विकल्प उपलब्ध करा रहे हैं बल्कि जूट की खेती सेे जुड़े लाखों-करोड़ों किसानों को भी लाभान्वित कर रहे हैं। हम इसमें उपभोक्ताओं, किसानों तथा पर्यावरण, सभी का सम्मिलित लाभ देख रहे हैं।‘‘