जेके टायर ने केसोरम इन्डस्ट्रीज़ की लकसर युनिट का अधिग्रहण पूरा किया

जेके टायर ने केसोरम इन्डस्ट्रीज़ की लकसर युनिट का अधिग्रहण पूरा किया

जेके टायर की पूर्ण स्वामित्व की सब्सिडरी जेके एशिया पेसिफिक प्रा. लिमिटेड एवं जेके टायर एण्ड इन्डस्ट्रीज़ लिमिटेड ने कैवेन्डिश इन्डस्ट्रीज़ लिमिटेड का अधिग्रण पूरा कर लिया जिसमें बिरला टायर्स के तीन टायर बिजनेस उपक्रम शामिल हैं। ये प्लान्ट लकसर (हरिद्वार) में स्थित हैं जो टायर, ट्यूब और फ्लैप्स की एक रेंज का निर्माण करते हैं। इस अधिग्रहण के साथ जेके टायर 12 टायर प्लान्ट्स से युक्त कम्पनी बन जाएगी जिसके 9 टायर प्लान्ट भारत में और 3 मैक्सिको में होंगे।  

यह अधिग्रहण 2200 करोड़ रु के उद्यम मूल्य का है। सीआईएल (कैवेन्डिश इन्डस्ट्रीज़ लिमिटेड) जेके ग्रुप कम्पनीज़ एवं इसकी सहायक कम्पनियों के द्वारा बैलेन्स तथा प्रत्यक्ष होल्डिंग्स के माध्यम से बहुत हिस्सेदारी के साथ जेके टायर की सब्सिडरी होगी। अधिग्रहण के लिए वित्तपोषण भीतरी स्रोतों एवं ऋण के संयोजन के द्वारा प्राप्त हुआ है।

जेके टायर को दुनिया की अग्रणी टायर कम्पनी बनाने के दृष्टिकोण के साथ यह अधिग्रहण किया गया है, जिसका घरेलू एवं अन्तरराष्ट्रीय दोनों बाज़ारों में एक सशक्त प्रोडक्ट पोर्टफोलियो होगा। 

सीआईएल के अधिग्रहण के साथ जेके टायर के पास ट्रक एवं बस रेडियल्स में अतिरिक्त क्षमता होगी, जो पहले से बाज़ार में अग्रणी है। यह जेके टायर को तेज़ी से विकसित होते हुए 2/3 पहिया टायर बाज़ार में भी प्रवेश कराएगा। ऐसे में यह अधिग्रहण जेके टायर के मौजूदा टायर बाज़ार के लिए बेहद सामरिक होगा। 

अधिग्रहण पर अपने विचार अभिव्यक्त करते हुए जेके टायर के चेयरमैन एवं प्रबन्ध निदेशक डाॅ. रघुपति सिंघानिया ने कहा, ‘‘कैवेन्डिश इन्डस्ट्रीज़ लिमिटेड का अधिग्रहण पूरा होने के साथ, जेके टायर- टायर बाज़ार में ही नहीं बल्कि ट्रक एवं बस रेडियल सेगमेन्ट में भी अपनी स्थिति को बेहद मजबूत बना लेगा। भारत एवं विदेशों में 12 मैन्यूफैक्चरिंग प्लान्ट्स एवं सशक्त अनुसंधान एवं विकास सुविधाओं के साथ जेके टायर आने वाले सालों में तेज़ी से विकसित होगा तथा उपभोक्ताओं की बदलती आवश्यकताओं को पूरा करने में कामयाब होगा।’‘