अपने कामों का धुआंधार प्रचार करेगी मोदी सरकार

अपने कामों का धुआंधार प्रचार करेगी मोदी सरकार

नई दिल्ली। मोदी सरकार दो साल पूरे होने के उपलक्ष्य में एक वेबसाइट ट्रांसफॉर्म इंडिया लॉन्च करने जा रही है। इस वेबसाइट के जरिए मोदी सरकार अपने दो साल के कामों को जनता के सामने पेश करेगी। सभी मंत्रालयों को कहा गया है कि वे अपने कम से कम दो बेहतर कामों की पूरी जानकारी इस वेबसाइट पर डाले। इसके बाद रेलवे, अर्बन डवलपमेंट, पेट्रोलियम, टेलिकॉम, आईटी, ऑरेन मिनिस्ट्री ने वेबसाइट को लेकर काम शुरु कर दिया है। हालांकि अभी भी गृह, मानव संसाधन, खेल, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय गंभीर नहीं दिख रहा है। 

बता दें कि केन्द्र में 26 मई को दो साल पूरे करने जा रही मोदी सरकार इस आयोजन पर बड़ा उत्सव करने की तैयारी में है। केन्द्र सरकार अपनी दो साल की उपलब्धियों को जनता के बीच बड़े ही प्रभावी तरीके से पेश करने की योजना बना रही है। सरकार इस अवसर पर हर घर पहुंचना चाहती है और इसके लिए मोदी सरकार कुछ बड़ी विज्ञापन एजेंसियों की मदद ले रही है। प्रथम साल के प्रचार प्रसार की जिम्मदारी जहां पीयूष गोयल ने उठाई थी, वहीं दूसरे साल की जिम्मेदारी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, संसदीय कार्य एवं शहरी विकास मंत्री वैंकेया नायडू एवं वाणिज्य राज्य मंत्री निर्मला सीतारमण को दी जा सकती है। प्रचार के लिए स्लोगन पीयूष पांडे बनाएंगे और प्रसून्न जोशी एक गाना लिखेंगे।

इसके साथ ही सभी मंत्रालयों से अपने-अपने मंत्रालयों की उपलब्धियों को बताने के लिए कहा गया है। दो साल की उपलब्धियों को लेकर एक लघु फिल्म भी बनाई जाएगी। सरकार की योजना इस लघु फिल्म को सभी सिनेमाघरों में फिल्म के पहले दिखाने के साथ ही इसे व्यापक स्तर पर प्रसारित करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेने की भी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने केबिनेट के सभी मंत्रियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने मंत्रालय के साथ-साथ अपने सहयोगी मंत्रियों के विभागों के भी उपलब्धियों की पूरी जानकारी रखें, जिससे वे अपने मंत्रालय के साथ-साथ अन्य मंत्रालयों की उपलब्धियों का भी बखान कर सके।

नरेन्द्र मोदी सरकार अपने कार्यकाल के 24 माह पूरे होने के अवसर पर देश को 24 क्षेत्रों में बांटकर केन्द्रीय मंत्रियों, सांसदों और विधायकों को शामिल कर अपनी योजनाओं के प्रचार प्रसार की जिम्मेदारी सौंपेंगी। वे स्थानीय लोगों से संवाद कर अगले तीन साल में आम लोगों की अपेक्षाओं का फीडबैक लेंगे। इसके बाद फीडबैक से सरकार को अवगत कराएंगे।

India