IGCL:महिला पत्रकारों ने पीजीआई डाक्टर्स को हराकर जीता खिताब

IGCL:महिला पत्रकारों ने पीजीआई डाक्टर्स को हराकर जीता खिताब

लखनऊ।  एलडीए स्टेडियम का नजारा रविवार को एकदम बदला हुआ था। यहां आधी आबादी यानि विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाएं इंडियन ग्रामीण क्रिकेट लीग (आईजीसीएल) के बैनर तले अपनी क्रिकेट की पिच पर अपना जलवा बिखेर रही थी। हालांकि इनमें से कोई प्रोफेषनल क्रिकेटर नहीं थी लेकिन मैदान में इनके बल्ले से निकले षॉटो, क्षेत्ररक्षण में चपलता और षानदार गेंदबाजी को देखकर कहीं से नहीं लग रहा था कि ये पेषेवर खिलाड़ी नहीं है।

यहीं नहीं इन कामकाजी महिलाओं का हौसला बढ़ाने के लिए मैदान पर गैंग ऑफ वासेपुर फेम अभिनेत्री ऋचा चड्ढा भी मौजूद थी। 

आईजीसीएल महिला सषक्तीकरण कप के इन मैचों में पीजीआई महिला डाक्टर्स, फिक्की एलओ, महिला पत्रकार व महिला षिक्षकों की टीमों के बीच मैच कराए गए थे जिनमें बाजी मारी महिला पत्रकारों की टीम ने। महिला पत्रकारों की टीम ने महिला सषक्तीकरण कप के इस फाइनल में पीजीआई की महिला डाक्टर्स को 49 रन से मात देकर खिताब पर कब्जा किया। छह ओवरों के इस मैच में महिला पत्रकार एकादष ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बिना किसी विकेट के नुकसान के 85 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज ममता डोगरा ने 27 गेंदों पर 5 चौकों व सात छक्कों की सहायता से 62 रन की अर्धषतकीय पारी खेली। वहीं आभा ने नौ गेंदों पर एक चौके व दो छक्के की सहायता से 19 रन जोड़े। जवाब में पीजीआई महिला डाक्टर्स की टीम दो विकेट गंवाकर 36 रन ही बना सकी। पीजीआई डाक्टर्स धीमी बल्लेबाजी व महिला पत्रकारों के चुस्त क्षेत्ररक्षण के चलते ज्यादा चल नहीं सकी। टीम से सुप्रिया ने सर्वाधिक 24 रन जोड़े। महिला रिपोर्टर की ओर से रंजना व आषू को एक-एक विकेट मिला। 

समापन समारोह में अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने इन महिलाओं के हौसले व जज्बे की तारीफ की तथा उम्मीद जताई कि इनसे प्रेरणा लेकर अन्य कामकाजी महिलाएं भी खेल के मैदान में जलवा दिखाने आगे आएंगी। उन्होंने विजेता महिला पत्रकार व उपविजेता पीजीआई महिला डाक्टर्स की टीम को 11-11 हजार का नगद पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। वहीं फ्यूचर कुकवेयर की ओर से छह विषेष पुरस्कार दिए गए। यह पुरस्कार

इससे पूर्व सेमीफाइनल में पीजीआई महिला डाक्टर्स ने महिला षिक्षकों की टीम को नौ विकेट से तथा महिला पत्रकारों की टीम ने पिक्की एलओ की टीम को नौ विकेट से हराकर फाइनल में स्थान सुरक्षित किया था। वहीं मैचों के दौरान बाकायदा बैनर व प्लेकार्ड लेकर यह महिलाएं साथी खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाती दिखी। 

लीग के चेयरमैन डा.अनुराग भदौरिया ने कहा कि उम्मीद है कि अन्य कामकाजी महिलाएं भी पिफटनेस बनाए रखने के लिए खेल के मैदान पर आगे आएंगी।