डीसीबी बैंक ने शुरू किया भारत का पहला आधार एटीएम

डीसीबी बैंक ने शुरू किया भारत का पहला आधार एटीएम

डीसीबी बैंक लिमिटेड ने आज भारत में पहली बार एक आधार संख्या और आधार फिंगरप्रिंट सक्षम एटीएम की शुरुआत की है. ये एटीएम आधार में अंकित अंगुली की छाप और आधार संख्या के जरिए बिना एटीएम/डेबिट कार्ड और पिन के खाते से कैश ट्रांजेक्शन को संभव बनाता है. यह एक कार्डलेस और पिन लेस एटीएम है. इस एटीएम को वर्तमान में पायलट साइट पर रखा गया है. यह साइट अभी मुंबई के लोअर परेल के पेनिंसुला बिजनेस पार्क स्थित डीसीबी बैंक में है. 

इस एटीम से पहला लेनदेन डीसीबी बैंक ग्राहक  इब्राहिम इकबाल देवासवाला और प्रशांत लक्ष्मण देवलेकर द्वारा किया गया. इन दोनों ग्राहकोँ ने अपने बैंक खातों से एटीएम नकद निकासी के लिए इसका इस्तेमाल किया. वे इस ऐतिहासिक क्षण का हिस्सा बन कर खुश थे. अभी के लिए, डीसीबी बैंक के कुछ चुने हुए कर्मचारियों और ग्राहकों को ही इस अनोखी सुविधा पाने के लिए सक्षम किया गया है. बैंक 30 से 45 दिनों तक इस पायलट परियोजना को जारी रखने की योजना बना रहा है और फिर इसके बाद अपने सभी 400 से अधिक एटीएम को आधार संख्या और आधार फिंगरप्रिंट ट्रंजेक्शन के लिए सक्षम बना देगा. हालांकि सभी नए स्थापित एटीएम में पहले से ही पिंगरप्रिंग बायोमेट्रिक रीडर इंस्टाल किया हुआ है. इसके अलावा सभी डीसीबी बैंक एटीएम परंपरागत तरीके से भी कम करते रहेंगे. 

इस अवसर पर बोलते हुए श्री मुरली एम नटराजन, प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि हम भारत का पहला आधार संख्या और आधार फिंग्रप्रिंट (बायोमेट्रिक) एटीएम लांच कर के खुश हैं. आधार सर्वव्यापी हो गया है. यह अपनी तरह का एक अनूठा व अद्भुत सुविधा है. अब एटीएमध्डेबिट कार्ड या पिन को याद करने की जरूरत नही है. ग्राहक को बस अपना 12 अंक का आधार संख्या दर्ज कराना है और बायोमेटृक रीडर पर अपना फिंगर प्रिंट देना है. एटीएम इन विवरण की पुष्टि करता है और तत्काल लेन-देन पूरा करता है. एटीएम में कई तरह के फंक्शन है. ग्राहक अगर अपने 12 अंकों वाली आधार संख्या की जगह एटीएमध्डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करना चाहते है तो उन्हें बस बायोमेट्रिक रीडर पर अपनी फिंगर प्रिंट दर्ज कराने की जरूरत पडेगी. यानी इसके साथ उन्हें पिन दर्ज कराने की जरूरत नही पडेगी. यह बेहतर ढंग से काम करता है