फेसबुक, ट्विटर और वाट्सएप से द्वारा भी पुलिस सुनेगी शिकायत

फेसबुक, ट्विटर और वाट्सएप से द्वारा भी पुलिस सुनेगी शिकायत

लखनऊ। अब फेसबुक, ट्विटर और वाट्सएप के जरिए भी आम जनता की फरियाद ' डायल 100 ' के कंट्रोल रूम में सुनी जाएगी। लखनऊ में यह सुविधा प्रदान कर दी गयी है जबकि दो सप्ताह के अंदर कानपुर, गाजियाबाद और इलाहाबाद के कंट्रोल रूम से इसे जोड़ा जाएगा।

डीजीपी मुख्यालय में पुलिस महानिरीक्षक एटीएस असीम अरुण ने पत्रकारों को इस नई सुविधा का ब्यौरा दिया। कानून-व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए अमेरिका के डायल 911 की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में डायल 100 परियोजना की शुरुआत की गयी है। इसके तहत 15 से 20 मिनट के भीतर आपराधिक वारदात या आपदा में फंसे आमजन द्वारा डायल 100 पर शिकायत करते ही पुलिस को पहुंचना है। असीम अरुण ने बताया कि नई व्यवस्था में फेसबुक, ट्विटर और वाट्सएप के जरिए भी शिकायत की जा सकेगी। वाट्सएप से लोकेशन भी भेज सकते हैं।

डायल 100 परियोजना को फेसबुक, ट्विटर और वाट्सएप से जोडऩे की वजह से अब किसी भी घटना का आडियो और वीडियो टेप भी उपलब्ध कराया जा सकेगा। असीम अरुण का कहना है कि यह साक्ष्य के तौर पर काम करेगा। लखनऊ के लिए वाट्सएप से जुडऩे के लिए पुलिस ने 9532522100 नंबर दिया है जबकि ट्विटर और फेसबुक का अलग अकाउंट है। सरकार ने डायल 100 परियोजना को पूरे प्रदेश के लिए लागू किया है और इसका राज्य स्तरीय मुख्यालय लखनऊ में बन रहा है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India