हुसैनाबाद ट्रस्ट की संपत्ति के आंकलन के लिए श्वेत पत्र जारी हो: कल्बे जवाद

हुसैनाबाद ट्रस्ट की संपत्ति के आंकलन के लिए श्वेत पत्र जारी हो: कल्बे जवाद

लखनऊ: हुसैनाबाद ट्रस्ट में जारी भ्रष्टाचार और अवैध निर्माण के मुद्दे पर सख्त रूख अपनाते हुए मौलाना कल्बे जवाद नकवी ने कहा कि ट्रस्ट की डीट और अधिनियम के मामले में पूरी एक समिति होनी चाहिए मगर समिति में केवल अध्यक्ष है और बाकी समिति का नामोनिशान नहीं है। यही कारण है कि ट्रस्ट में भ्रष्टाचार हो रहा है, अवैध निर्माण जारी है और इमारतों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। हमारी मांग है कि सरकार ट्रस्ट की संपत्ति के आॅकलन और आत्मनिरीक्षणके लिए श्वेत पत्र जारी करे ताकि ट्रस्ट की कुल संपत्ति का ज्ञान हो सके कि आखिर कितनी संपत्तियांॅ नुजुल, वंश में सूचीबद्ध हैं कितनी नुजुल,वंश से हट चुकी हैं, कितनी संपत्ति सुरक्षित है और कितनी संपत्ति को बर्बाद कर दिया गया है ,गोल दरवाजे का असल सवरूप बदल गया है और खत्म होने के करीब है, दरवाजे के आसपास अवैध निर्माण ने उसके मूल आकार को बदल दिया है। मौलाना ने कहा कि डी0एम0 के खिलाफ बोलने का परिणाम है कि हमारी कौम को इतना प्रताडति किया गया, ओलमा का अपमान किया गया और लाठियां बरसाई गईं। इसलिए कि ट्रस्ट से लाखों की आय होती है जिसका कोई हिसाब व किताब नहीं है। इसी लिए हमने डी0एम0 के साथ अन्य संबंधित अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है।

मौलाना ने कड़ी नाराजगी का व्यकत करते हुए कहा कि पांच वक्फ संपत्तिीयों पर अभी भी अवैध निर्माण जारी है, ऐ0 सी 0एम0 टू ने खुद इन जमीनों पर यह कहकर निर्माण की अनुमति दी है कि यह भूमि वक्फ की नहीं हैं। मौलाना ने कहा कि वक्फ में लूट मची है इतनी लूट अंग्रेजों ने गदर में भी नहीं की होगी जितनी सरकार और प्रषासन ने मचाई हुई है। मौलाना ने कहा कि हमने वक्फ के संरक्षण और हुसैनाबाद ट्रस्ट की संपत्ति की हिफाजत के लिए विभिन्न सरकारी विभागों को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की है ,अभी राज्यपाल से लेकर प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, एल0डीए0 और अन्य विभागों को पत्र लिखकर डी0एम0 और ट्रस्ट के विनाश के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ एफआईआर करने की मांग किया है मगर हर तरफ वक्फ की बर्बादी पर चुप्पी है। मौलाना ने कहा कि अगर कौम के लोग एकजुट नहीं होगे यह लूट जारी रहेगी।

 मौलाना ने उत्तर प्रदेश में होने वाले चुनाव के मद्देनजर जनता को मत के इसतेमाल के लिए जागरूक करते हुए कहा कि का चुनाव में जहां चाहें वोट दें मगर एकजुट होकर वोट का इस्तेमाल करें ताकि हमारी कौम को उसका हक मिल सके । इस बार के चुनाव में मुसलमानों को चाहिए कि समझदारी से काम लें और ऐसी सरकार को वोट न करें जो उनके अधिकारों का हनन करती रही है। मौलाना ने कहा कि जो सरकार खुद को मुसलमानों का हमदर्द कहती है वह कमलेश तिवारी के खिलाफ सख्त कदम नही उठा सकी, जिस अखबार में कमलेश तिवारी का भड़काऊ बयान प्रकाषित किया था उस अखबार की सरकार संरक्षण कर रही है और बडे बड़े विज्ञापन दिए जा रहे हैं। इसके लिए जरूरी है कि मुस्लिम सोच समझ कर अपना वोट दें। यह सरकार न शियों की सहानुभूति है और न अन्य मुसलमानों की हमर्दद है ।मौलाना ने अपना बयान जारी रखते हुए कहा कि जो लोग खुषनुदी में कौम से गद्दारी करके सरकारों और प्रशासन का साथ देते हैं सुनलें कि जो जालिमों का साथ देता है समय पड़ने पर जालिम उसका साथ नहीं देता बल्कि अपने हित पर उसका बलिदान कर देता है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India