ऐक्सिस बैंक के ‘पाॅवर सैल्यूट‘ द्वारा रक्षा कर्मियों के लिये ‘पे टू पेंशन‘ सेवाओं की पेशकश की जायेगी

ऐक्सिस बैंक के ‘पाॅवर सैल्यूट‘ द्वारा रक्षा कर्मियों के लिये ‘पे टू पेंशन‘ सेवाओं की पेशकश की जायेगी

ऐक्सिस बैंक ने रक्षा क्षेत्र को सेवायें प्रदान करने की अपनी निरंतर प्रतिबद्धता के अंतर्गत भारतीय सैन्य बल, नौसेना और तटरक्षक बल के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया है। इसका उद्देश्य अपनी नवीनतम पेशकश - ‘पाॅवर सैल्यूट‘ के अंर्तगत भुगतान से पेंशन तक समग्र जीवनकालिक समाधान उपलब्ध कराना है। 

ऐक्सिस बैंक ने दिल्ली में रक्षा मंत्रालय परिसर में स्थित अपनी शाखा को उन्नत बनाया है। ऐक्सिस बैंक निजी क्षेत्र में एकमात्र ऐसा बैंक है, जिसने अपने एक एक्सटेंशन काउंटर के माध्यम से रक्षा मुख्यालय (सेना भवन, नई दिल्ली) में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रखी है। सेल्फ-सर्विस ई-लाॅबी के साथ ईजी को डिजिटल फाॅर्मेट में दोबारा लाॅन्च किया जा रहा है। इस शाखा को बुधवार, 27 जनवरी 2016 को फिर से रक्षा विभाग को समर्पित किया गया। इस अवसर पर वाइस ऐडमिरल एसआर कर्वे, एवीएसएम, चीफ आॅफ पर्सनल, इंडियन नेवी; श्री संजय सिलास, प्रेसिडेंट एवं हेड ब्रांड बैंकिंग, ऐक्सिस बैंक और बैंक एवं रक्षा बलों के कई अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 

ऐक्सिस बैंक द्वारा बैंक के लिये बिजनेस काॅरेसपाॅन्डेंट्स की नियुक्ति करने में भी पूर्व-सेवाकर्मियों को विशेष प्राथमिकता दी जायेगी और साथ ही सिक्युरिटी डिपाॅजिट की जरूरत पर छूट भी दी जायेगी। 

‘पाॅवर सैल्युट‘ के अंतर्गत ऐक्सिस बैंक की विशिष्ट सेवा में रक्षा कर्मियों के लिये विभिन्न फायदों की पेशकश की गई है, जिनमें लोन उत्पाद, बैंकिंग समाधान और एक्सक्लूजिव ‘प्राइड‘ क्रेडिट कार्ड शामिल है। इन फायदों का लाभ उनकी सेवानिवृत्ति के बाद भी मिलता रहेगा। 

रक्षा कर्मियों के लिये पावर सैल्यूट अकाउंट उनके लिये एवं उनके परिवार के सदस्यों के लिये एक जीरो बैलेंस सैलरी अकाउंट होगा। ऐक्सिस बैंक द्वारा उन्नत पर्सनल ऐक्सीडेंट डेथ कवर, ऐक्सिस एवं नाॅन-ऐक्सिस बैंकों के एटीएम पर अनलिमिटेड फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन और रैंक-वाइज ग्रेडेड पेशकश की जायेगी। इसके साथ ही उनकी विभिन्न जरूरतों के अनुकूल विशेष लाभ भी प्रदान किये जायेंगे। 

विशेष ‘‘पावर सैल्यूट‘‘ के रूप में प्रमुख रक्षा स्थलों पर तकरीबन 20 विशिष्ट एटीएम भी स्थापित किये जायेंगे। इसके अतिरिक्त, बैंक द्वारा प्रमुख डिफेंस ट्रेनिंग और रेजिमेंटल सेंटर्स पर एटीएम/ई-लाॅबी भी स्थापित किये जायेंगे, ताकि सैन्यकर्मियों को बेहतर सेवायें प्रदान की जा सकें।