पानी के मीटर लगाना जनविरोधी निर्णय: मारूफ खान

पानी के मीटर लगाना जनविरोधी निर्णय: मारूफ खान

लखनऊ : प्रदेश की राजधानी सहित प्रदेश के तमाम जिलों के शहरी क्षेत्रों में पानी भी अब मीटर लगाकर आम जनता को देने के सरकारी आदेश की उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी ने कड़ी निन्दा की है।

प्रदेश कंाग्रेस के महासचिव एवं कम्युनिकेशन विभाग के वाइस चेयरमैन मारूफ खान ने प्रदेश सरकार के इस जनविरोधी निर्णय का कड़ा प्रतिवाद करते हुए कहा कि विगत विधानसभा चुनाव से पूर्व समाजवादी पार्टी ने प्रदेश की जनता से बड़े-बड़े वादे किये थे। परन्तु सत्ता में आने के बाद चार वर्ष के अपने कार्यकाल में आम जनता की मूलभूत प्राथमिक सुविधाओं को भी पूरा करने में विफल साबित हुई है। एक ओर जहां शहरी क्षेत्रों में पेयजल की भारी समस्या है और आम जनमानस पानी के लिए त्राहि-त्राहि कर रहा है। वहीं दूसरी ओर सरकार का इस प्रकार का निर्णय पूरी तरह जनविरोधी कदम है। 

श्री खान ने  कहा कि समाजवादी पार्टी ने अपने घोषणापत्र में किसानों को मुफ्त बिजली और पानी देने का वादा किया था, जिसे वह आज तक पूरा नहीं कर सकी है। बुन्देलखण्ड सहित पूरे प्रदेश का किसान बदहाली और भुखमरी का शिकार है। प्रदेश सरकार अब किसानों और आम जनता की बदहाली दूर करने के बजाय शहरी क्षेत्र की जनता पर पानी के नाम पर एक और आर्थिक बोझ डालने का कार्य कर रही है जो किसी भी प्रकार से उचित नहीं है। इस प्रकार की योजना को लागू करना प्रदेश की जनता के हितों पर कुठाराघात है।

श्री खान ने मांग की है कि प्रदेश सरकार पानी जैसी मूलभूत आवश्यक सुविधा को पूरे प्रदेश में सुचारू रूप से उपलब्ध कराये व मीटर लगाने जैसे जनविरोधी निर्णय को तत्काल वापस ले।

Lucknow, Uttar Pradesh, India