आगरा एक्सप्रेस-वे यूपी की अर्थव्यवस्था के लिए वरदान साबित होगा

आगरा एक्सप्रेस-वे यूपी की अर्थव्यवस्था के लिए वरदान साबित होगा

मुख्यमंत्री ने फिरोजाबाद में ‘आगरा ताज कार रैली-2016’ को फ्लैग आॅफ किया

फिरोजाबाद: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज जनपद फिरोजाबाद की सिरसागंज तहसील के गांव सुजनीपुर के निकट आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर आगरा ताज कार रैली-2016 को फ्लैग आॅफ कर रवाना किया। इस अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस कार रैली से जहां एक ओर प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, वहीं दूसरी ओर प्रदेश सरकार द्वारा निर्मित कराए जा रहे 302 किलोमीटर लम्बे विश्वस्तरीय आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की एक झलक भी लोगों को मिलेगी।

श्री यादव ने कहा कि हमारी सरकार ने इस एक्सप्रेस-वे को समयबद्ध ढंग से बनाने के लिए किसानों की सहमति से जमीन हासिल की, जिसके कारण इस योजना पर त्वरित गति से काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि इसके निर्माण के उपरान्त आगरा-लखनऊ के बीच की दूरी को कम समय में पूरा किया जा सकेगा। साथ ही, यह एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के समयबद्ध त्वरित निर्माण के लिए यूपिडा के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा किए जा रहे प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनकी सूझ-बूझ से ही यह कार्य इतने कम समय में पूरा किया जा सकेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे के दोनों ओर आलू, दूध, फल, सब्जी, अनाज आदि की मण्डियां स्थापित की जाएंगी, जिससे लोगों की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी और उनके जीवन स्तर में तेजी से बदलाव आएगा। उन्होंने कहा कि आज किसान व नौजवान पर सबसे ज्यादा संकट है। किसानों को अपनी उपज का पर्याप्त मूल्य नहीं मिल पाता है, जबकि नौजवानों को रोजगार के अवसर नहीं मिल पाते। इस सड़क के किनारे मण्डियां बनने से किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य मिल सकेगा, वहीं नौजवानों को रोजगार के पर्याप्त मौके मिलंेगे, जिससे समाज में आर्थिक सम्पन्नता आएगी। उन्होंने कहा कि देश की कोई भी प्रदेश सरकार ऐसा कार्य नहीं कर रही है, जैसा उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार कर रही हैै। राज्य सरकार प्रदेश के विकास के लिए ऐसे ही कार्य करती रहेगी।

उल्लेखनीय है कि इस कार रैली में विभिन्न प्रकार की 90 कारें भाग ले रही हैं, जो 400 किलोमीटर लम्बा रोमांच का सफर तय करेंगी। इनमें से तीन कारों के चालक विकलांग हैं, जो हाथ से नियन्त्रित होने वाली स्पेशल कारों पर सवार हैं। इस रैली में 12 महिलाएं भी प्रतिभाग कर रही हैं।

Uttar Pradesh, India