सातवें आसमान पर सानिया

सातवें आसमान पर सानिया

मेलबर्न : टेनिस सनसनी सानिया मिर्जा अपनी कामयाबी के साथ लगातार सातवें आसमान पर हैं। सानिया और मार्टिना हिंगिस की जोड़ी पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन चैम्पियन बनी है, और कुल मिलाकर यह मिलकर हासिल किया गया उनका तीसरा ग्रैंड स्लैम खिताब है। सानिया और हिंगिस की वर्ल्ड नंबर वन जोड़ी ने चेक गणराज्य की एंद्रिया लावाच्कोवा और लूसी राडेका की जोड़ी को 7-5, 6-3 से हराकर ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब अपने नाम किया।

सानिया-हिंगिस की जोड़ी ने एक साथ तीसरा ग्रैंड स्लैम खिताब अपने नाम कर लिया है, जिससे उनकी हैट्रिक हो गई है। सानिया खुद भी मानती हैं कि टेनिस में उनके करियर की दूसरी पारी सपनों जैसी रही है। सानिया-हिंगिस की जोड़ी की WTA सर्किट पर यह लगातार 36वीं जीत है। WTA सर्किट पर लगातार 44 जीत का रिकॉर्ड याना नोवोत्ना और हेलेना सुकोवा की जोड़ी के नाम है, जो सानिया-हिंगिस का अगला लक्ष्य हो सकता है।

हालांकि पहले सेट में वर्ल्ड नंबर वन जोड़ी को संघर्ष करना पड़ा और पहले सेट के बाद कंधे की चोट को मालिश से ठीक करवाने की जरूरत भी पड़ी। यही नहीं, पहले सेट के दौरान सानिया एक वक्त मार्टिना हिंगिस का हौसला बढ़ाती भी नजर आईं।

कुल मिलाकर सानिया मिर्जा का यह छठा ग्रैंड स्लैम खिताब है। पूर्व वर्ल्ड नंबर वन मार्टिना हिंगिस के साथ सानिया का यह तीसरा ग्रैंड स्लैम खिताब है। पिछले साल सानिया-हिंगिस की जोड़ी ने विम्बलडन और यूएस ओपन के खिताब अपने नाम किए थे।

वैसे, सानिया ने पहला ग्रैंड स्लैम खिताब महेश भूपति के साथ वर्ष 2009 में जीता था और फिर भूपति के साथ ही 2012 में फ्रेंच ओपन का खिताब भी जीता। वर्ष 2014 में सानिया ने ब्राजील के ब्रूनो सोआरेस के साथ यूएस ओपन का खिताब जीता था।