किसानों को लेकर संवेदनशील नही है प्रदेश सरकार: शेखर दीक्षित

किसानों को लेकर संवेदनशील नही है प्रदेश सरकार: शेखर दीक्षित

लखनऊ । किसान मंच ने आज अहिडर बाजार माल लखनऊ में किसानों की अति ओलादृष्टि, सूखा, फसल नुकसान के मुआवजे को लेकर किसान पंचायत का आयोजन किया। किसान पंचायत की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश अध्यक्ष शेखर दीक्षित ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों को लेकर संवेदनशील नही है। पिछले तीन वर्षो से मौसम की मार किसान झेलते -झेलते मायूस हो गया है। जब किसान संगठनों ने किसानों की फसल नुकसान मुआवाजा देने के लिए धरना प्रदर्शन किए सरकार पर दबाव बनाया तब जाकर सरकार ने मुआवजा बॉटने की प्रक्रिया में बन्दर बॉट धांधलियों की भेंट मुआवजा चढ़ गया। मलिहाबाद में सैकडों गॉव मुआवजा बंटने से वंचित रह गए है। प्रशासन की ओर से गरीब किसानों के जमीन पर मुआवजे के लिए ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसके लिए जनप्रतिनिधि भी आगे नहीं आ रहे हैं। तीन सालो में मिलने वाली फसल का नुकसान किसानों को उठाना पड़ रहा है। बीते बेमौसम से किसानों को गरीबी से जुझना पड़ रहा है। वही संगठन मंत्री संजय द्विवेदी ने कहा कि किसानों केे पसीने का मूल्य लोग भूल रहे है। यह इसलिए हो रहा है कि  किसान अपना हक मांगने में भी संकोच करता है । स्थिति यह है कि बडा दबाव बनाकर लोग सरकार को झुकार अपना काम करवा लेते है लेकिन किसान आज भी उपेक्षित है।  किसानों को अपना हक पाने के लिए संघर्ष करना होगा तभी किसानों की बातें सरकारी अमला सुनेगा। वही किसानों ने कहा कि अगर मुआवजे की राशि जल्द से जल्द मिल जाए तो हमारी परेशानी दूर हो जाएगी। पंचायत में प्रदेश अध्यक्ष शेखर दीक्षित, प्रदेश महासचिव वसीम खान, संगठन मंत्री संजय द्विवेदी, तहसील अध्यक्ष अर्जुन सिंह ,सर्वेश पाल आदि किसान उपस्थित हुए।

Lucknow, Uttar Pradesh, India