नखास रविवार बाजार को स्थान्तरित किये जाने पर शिया नाराज़

नखास रविवार बाजार को स्थान्तरित किये जाने पर शिया नाराज़

शियों के ट्रस्ट की ज़मीन पर केवल शियों को आबंटित की जाएँ दुकानें 

लखनऊ: नखास रविवार के बाजार को हुसैनाबाद ट्रस्ट की भूमि पर स्थानांतरित किए जाने और शहीद शेख बाकिर उल निम्र के चालीसवें की मजलिस के लिये कई महत्वपूर्ण फैसलों के लिए आज अंजुमनों की एक महत्वपूर्ण बैठक मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी के मकान पर आयोजित हुई। बैठक में अन्जुमनों ने सहमति  से यह तय किया कि 7 फरवरी रविवार को दिन में 3 बजे बड़ा इमामबाड़े में शहीद बाकिर उल निम्र के चालीसवें की मजलिस बड़े पैमाने पर आयोजित होगी। जिसमें शहर के सभी संघों के साथ उलमा, और सभी संस्थाओं को भाग लेने की दावत दी जाती है ताकि बड़े इमामबाड़े में शहीद की मजलिस प्रतिष्ठित रूप से आयोजित हो सके।

बैठक में मात्मी अंजुमनों ने नखास रविवार बाजार को हुसैनाबाद ट्रस्ट की भूमि पर स्थानांतरित किए जाने के मुद्दे पर जिला प्रशासन के इस फैसले पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि हुसैनाबाद ट्रस्ट की भूमि केवल शियों के लिये निर्दिष्ट है इसलिए यदि वहाँ बाजार स्थानांतरित किया जा रहा है तो दुकाने केवल शियों को आवंटित की जाएं क्योंकि अगर हुसैनाबाद ट्रस्ट में भी शियों को जगह नहीं दी जाएगी तो शिया गरीब दुकानदार कहां जाएंगे, शिया दुकानदारों को कहीं आसानी से जगह नहीं मिलती है इसलिए अगर उन्हें अपने ट्रस्ट ही में जगह नहीं मिलेगी तो उनके लिए मुश्किलें होंगी ।अन्जुमनों ने कहा के नखास का प्राचीन बाजार यदि हुसैनाबाद की भूमि पर ले जाया जाएगा तो वहाँ जगह की कमी है और यह संभव नहीं है इसलिए यदि हुसैनाबाद की जमीन पर शियों के अलावा किसी और को जगह दी जाएगी तो उसके खिलाफ देशव्यापी विरोध के साथ न्यायिक कार्यवाही भी की जाएगी।

Lucknow, Uttar Pradesh, India