अपनी अक्षमता छुपाने के लिए मुलायम ने शुरू किया है मन्दिर-मस्जिद का राग: मारूफ खान

अपनी अक्षमता छुपाने के लिए मुलायम ने शुरू किया है मन्दिर-मस्जिद का राग: मारूफ खान

लखनऊ: सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव द्वारा कल जनेश्वर मिश्र पार्क में दिये गये बयान कि ‘‘ हमने मस्जिद बचा ली इसलिए सपा बड़ी पार्टी बनी एवं गोली चलवाने का मुझे आज तक दुःख है’’- पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कंाग्रेस के महासचिव एवं मीडिया विभाग के वाइस चेयरमैन मारूफ खान ने कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल की अपनी अक्षमताओं और विफलताओं को छुपाने, जनता का ध्यान हटाने एवं आने वाले विधानसभा चुनाव में अपनी संभावित हार को भांपकर सपा मुखिया ने एक बार फिर मन्दिर-मस्जिद का राग अलापना शुरू कर दिया है।

श्री खान ने कहा कि कल सपा मुखिया ने जिस प्रकार अपने अन्तर्मन की आवाज को मुखर करते हुए अपने छिपे हुए पुराने साम्प्रदायिक एजेण्डे को पुनः आम जनता के सामने रखा है इससे समाजपार्टी के चार वर्ष के कार्यकाल में किये जा रहे विकास के बड़े-बड़े दावों की स्वतः पोल खुल गयी है और यह साबित हो गया है कि समाजवादी पार्टी का विस्तार सिर्फ और सिर्फ आम जनता की धार्मिक भावनाओं को भड़काकर वोटों के ध्रुवीकरण पर टिका है, जिसकी स्वीकारोक्ति कल स्वयं सपा मुखिया श्री मुलायम सिंह यादव ने अपने भाषण में की है। समाजवादी पार्टी सत्ता में आने एवं अपनी पार्टी का विस्तार करने के लिए इसी प्रकार के हथकण्डों को अपनाती रही है। 

श्री खान ने कहा कि एक तरफ जहां श्री मुलायम सिंह यादव मस्जिद बचाने का दावा कर अल्पसंख्यकों को गुमराह करने की बार-बार कोशिश कर रहे हैं वहीं गोली चलवाने का दुःख जताकर बहुसंख्यक समाज की सहानुभूति बटोरने का निरर्थक प्रयास कर रहे हैं, अब उ0प्र0 का चाहे अल्पसंख्यक समाज हो या बहुसंख्यक समाज, इनकी बंटवारे की राजनीति में फंसने वाला नहीं है। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India