रोहित वेमुला मामले में राष्ट्रपति करें हस्तक्षेप: आज़म

रोहित वेमुला मामले में राष्ट्रपति करें हस्तक्षेप: आज़म

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता तथा उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य, नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आज़म खाँ ने हैदराबाद विश्वविद्यालय के दलित रिसर्च स्काॅलर रोहित वेमुला की आत्महत्या को बहुत दुःखद बताते हुए उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी सहानुभूति व्यक्त की है। उन्होंने शोक संतप्त परिवार को अपने निजी स्तर से हर सम्भव मदद दिये जाने का आश्वासन भी दिया है। 

इस संबंध में आज जारी अपने एक बयान में आज़म खाँ ने कहा कि जो सुसाइड नोट मिला है वह संदेहास्पद है। उन्होंने कहा कि इस आत्महत्या के लिए केन्द्र की सत्ता में बैठी पार्टी और उसके सहयोगी संगठन जिम्मेदार हैं। ये लोग दलित व अल्पसंख्यक विरोधी हैं और नहीं चाहते हैं कि दलित एवं अल्पसंख्यक समुदाय के लोग शिक्षित हों। उन्होंने कहा कि ये लोग इंसानियत के दुश्मन हैं, जिसका जीता-जागना उदाहरण गुजरात और मुजफ्फरनगर में हुये नर-संहार हैं। इनका मुख्य उद्देश्य दलितों और अल्पसंख्यकों को तबाह-ओ-बर्बाद करना है, उनकी जामिया मिल्लिया और अलीगढ़ मुस्लिम युनीवर्सिटी जैसी शैक्षणिक संस्थाओं को ख़त्म करना है। उन्होंने कहा कि हम इन फासिस्ट ताक़तों के इरादों को कामयाब नहीं होने देंगे, हम अपनी शिक्षण संस्थाओं को खत्म नहीं होने देंगे।

अपने बयान में आज़म खाँ ने राष्ट्रपति से राहुल वेमुला की आत्महत्या के प्रकरण में हस्तक्षेप करने का पुरजोर अनुरोध किया है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India