भारत में भारी निवेश करेगा सॉफ्टबैंक : सीईओ

भारत में भारी निवेश करेगा सॉफ्टबैंक : सीईओ

नई दिल्ली: जापान के सॉफ्टबैंक ने भारत में तेजी से विकास की संभावनाओं पर अपना दांव बढ़ाते हुए शनिवार को कहा कि उसने पिछले एक साल के दौरान भारतीय कंपनियों में दो अरब डॉलर का निवेश किया है। वह आने वाले सालों में अपने निवेश को बढ़ाकर 10 अरब डॉलर तक पहुंचाएगा।

सॉफ्टबैंक के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यकारी मासायोशी सन ने कहा कि भारत में इंटरनेट और सौर ऊर्जा ऐसे क्षेत्र हैं जिन्हें लेकर वह उत्साहित हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि इस मामले में वह चाहते हैं कि सरकार मोबाइल फोन के लिए बेहतर ढांचागत सुविधाएं खड़ी करे और इंटरनेट की धीमी गति से जुड़ी समस्याओं को सुलझाए।

मासायोशी ने स्टार्टअप इंडिया सम्मेलन में यहां कहा, 'यदि मैं नए सिरे से इसका आकलन करुंगा तो मैं इसे बढ़ाऊंगा। दस अरब डॉलर का क्या बनेगा, मुझे नहीं मालूम। मैंने यदि यह कहा कि हम 10 साल में 10 अरब डॉलर निवेश करेंगे तो हमने एक साल में दो अरब डॉलर निवेश किया है। यह काफी तेजी से आगे बढ़ा है और मैं समझता हूं कि हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं।' उन्होंने कहा कि वह हर यात्रा में जितना भारत के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल करते हैं उतना ही वह उत्साहित होते हैं।

उन्होंने कहा कि 21वीं सदी भारत की सदी है और भारत में व्यापक संभावनाएं हैं। 'हर बाजार अलग है और सही मायनों में मैं मानता हूं कि यह भारत के लिए बड़ी शुरुआत है।' मासायोशी ने कहा, 'अगले 10 साल के दौरान भारत वह वृद्धि हासिल करेगा जो कि चीन ने पिछले 10 साल के दौरान देखी है और मेरे विचार से यह इससे बड़ी भी हो सकती है।'

उन्होंने कहा कि भारत काफी स्मार्ट हैं, यहां लोग अंग्रेजी बोलते हैं, आईटी क्षेत्र के जानकार हैं। 'ये सभी बातें मुझे विश्वास दिलातीं हैं कि 21वीं सदी इसकी सदी है।' उन्होंने कहा, 'जिन क्षेत्रों में हम काम कर रहे हैं उन्हें लेकर हम काफी खुश हैं, हम नए अवसरों पर लगातार नजर रखे हुए हैं। इंटरनेट और सौर ऊर्जा ऐसे क्षेत्र हैं, जिससे में उत्साहित हूं।'

जापान के दूसरे सबसे धनी व्यक्ति जिनकी नेटवर्थ 14.1 अरब डॉलर है, उन्होंने कहा कि ढांचागत सुविधाएं काफी महत्वपूर्ण हैं और भारत में मोबाइल ब्रांडबैंड सुविधाएं कमजोर हैं। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि मोबाइल इंटरनेट काफी धीमा है। मोबाइल रखने वालों के लिए और ज्यादा स्पेक्ट्रम आवंटित किया जाना चाहिए, ताकि उनको अच्छा मोबाइल ब्राडबैंड उपलब्ध हो सके।'

सॉफ्टबैंक ने साल 2014 में भारत में अगले एक दशक के दौरान 10 अरब डॉलर निवेश करने की घोषणा की थी। वह पहले ही ऑनलाइन बाजार स्नैपडील में 62.70 करोड़ डॉलर निवेश कर चुका है। इसके अलावा प्रापर्टी साइट हाउसिंग डॉट कॉम में भी उसने थोड़ा निवेश किया है।

सॉफ्टबैंक ने जून में भारत के सौर ऊर्जा क्षेत्र में प्रवेश किया। उसने भारती एंटरप्राइजिज और ताइवान के फाक्सकॉन टेक्नालाजी समूह के साथ इस क्षेत्र में प्रवेश किया।