भारत में भी चल रही है हिन्दुओं को मिटाने की कुटिल नीति: तोगडि़या

भारत में भी चल रही है हिन्दुओं को मिटाने की कुटिल नीति: तोगडि़या

लखनऊ । विश्व हिन्दू परिषद के अन्तरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डा. प्रवीण भाई तोगडि़या ने आज यहां कहा कि हमारी पहचान हिन्दू है और हिन्दू होने के बारे में हमारे अंदर स्पष्टता व दृढ़ता होनी चाहिए। डा. प्रवीण तोगडि़या हजरतगंज स्थित हिफी के कार्यालय में धर्म रक्षा निधि कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन हिफी ने किया था। कार्यक्रम मंे विहिप, बजरंग दल कार्यकर्ताओं के साथ डाक्टर, वकील और विभिन्न वर्गों के लोग शामिल थे। 

विहिप के अन्तरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डा. प्रवीण तोगडि़या का स्वागत करते हुए हिफी की प्रबंध निदेशक एवं प्रधान सम्पादक मनीषा स्वामी कपूर ने अपनी संस्था के बारे में भी जानकारी दी। मनीषा स्वामी कपूर ने बताया कि हिफी में ज्ञानवर्धक, भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने वाले और विविध विषयों पर आलेख जारी किये जाते हैं जिनको देश भर में लगभग 2000 हिन्दी पत्र-पत्रिकाएं प्रकाशित करती हैं।

डा. प्रवीण तोगडि़या ने अपने ओजस्वी सम्बोधन में हिन्दू समाज, हिन्दू धर्म और हिन्दू संस्कृति और सभ्यता के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा सृष्टि के प्रारम्भ में और कोई धर्म नहीं था, सिर्फ हिन्दू थे। बाकी धर्म तो बाद में बने हैं लेकिन जिस तरह से हजारों वर्षों में कई देशों से हिन्दुओं का नाम मिट गया, उसी तरह की कुटिल नीति भारत में भी चल रही है। असम, पश्चिम बंगाल आदि इसकी कगार पर खड़े हैं। इसलिए हिन्दू की रक्षा करना हम सबका कर्तव्य है। विश्व हिन्दू परिषद द्वारा किये जा रहे प्रयासों के बारे में भी डा. तोगडि़या ने विस्तार से बताया।

अंत में संस्था के निदेशक ऋषि कपूर ने डा. प्रवीण तोगडि़या और अन्य आगंतुक संभ्रान्तजनों को कार्यक्रम में पधारने के लिये धन्यवाद दिया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India