विज्ञान हम सभी की प्रगति के लिए आवश्यक है: मनोज पाण्डेय

विज्ञान हम सभी की प्रगति के लिए आवश्यक है: मनोज पाण्डेय

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री ने तीन दिवसीय साइंस थियेटर फेस्टिवल का उद्घाटन किया

लखनऊ: प्रदेश के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री मनोज कुमार पाण्डेय ने आज बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर केन्द्रीय विश्वविद्यालय, लखनऊ के आॅडिटोरियम में तीन दिवसीय साइंस थियेटर फेस्टिवल का उद्घाटन दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

श्री पाण्डेय ने कहा कि विज्ञान हम सभी की प्रगति के लिए आवश्यक है। जिस समय दो पत्थरों को रगड़ने से चिंगारी निकली उसी वक्त विज्ञान को पहचाना गया उसी तरह न्यूटन ने पेड़ से गिरते हुए सेब को देखकर विज्ञान को एक नयी परिभाषा दी।

श्री पाण्डेय ने कहा कि डाॅ0 कलाम ने विज्ञान को विश्व की बुलंदियों पर पहंुचाने का जो कार्य किया उसे और आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज हमे विज्ञान और कला को एक साथ जोड़कर देखने की जरूरत है। श्री पाण्डेय ने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा विज्ञान और कला को एक साथ मंच पर लाने का जो प्रयास किया जा रहा है, वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा विज्ञान के महत्व को देखते हुए आई0टी0 सिटी की स्थापना की जा रही है। इसके साथ ही, 12वीं पास विद्यार्थियों को निःशुल्क लैपटाॅप वितरित किया जा रहा है, जिसके माध्यम से उन्हें तकनीक से जुड़ने का अवसर प्राप्त हो रहा है।

इस अवसर पर कार्यक्रम के विशेष अतिथि यश भारती पुरस्कार से सम्मानित डाॅ0 उर्मिल कुमार थपलियाल ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में कीनोट स्पीकर श्री अरविंद गौर ने कहा कि शायद यह भारत का सबसे पहला विज्ञान आधारित नाटक महोत्सव है जो कि केन्द्रीय विश्वविद्यालय में आयोजित हो रहा है। इस तीन दिवसीय कार्यक्रम की रूप-रेखा जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो0 गोविंदजी पांडेय ने रखी। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कार्यकारी कुलपति प्रो एनएमपी वर्मा ने की।

Lucknow, Uttar Pradesh, India