आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट लाएगा सबसे बड़ा बदलाव: मुख्यमंत्री

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट लाएगा सबसे बड़ा बदलाव: मुख्यमंत्री

लखनऊ: ‘आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे’ ही वह प्रोजेक्ट है जो सबसे बड़ा बदलाव लायेगा। आप लोग खूब मेहनत कर रहे हैं धन्यवाद’। ये उद्गार मुख्यमंत्री ने आगरा के आई0टी0सी0 मुगल होटल में आयोजित ‘उत्तर प्रदेश प्रवासी दिवस’ के अवसर पर आयोजित प्रदर्शनी में उत्तर प्रदेश इण्डस्ट्रियल डेवलपमेंट अथाॅरिटी (यूपीडा) के स्टाल के अवलोकन करते हुए व्यक्त किये। इस प्रदर्शनी में यूपीडा द्वारा बनाये जा रहे आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का माॅडल, प्रगति स्टैन्डीज़/ एल0ई0डी0 पर फिल्म के माध्यम से दर्शायी गयी।

इससे पूर्व, प्रदर्शनी स्थल पहुंचने पर यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नवनीत सहगल ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तथा कन्नौज की सांसद डिम्पल यादव का स्वागत किया तथा उन्हें परियोजना की अद्यतन प्रगति की जानकारी दी। श्री सहगल ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे तथा पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे का लिटरेचर मुख्यमंत्री जी तथा सांसद को भेट किया।

श्री लेलिन जे0 मोरार जो लाॅस एन्जिेलस अमेरिकी प्रवासी भारतीय हंै, ने माॅडल का अवलोकन करने के बाद कहा कि अगली बार यू0पी0 आने पर वे एक्सप्रेस-वे पर ड्राइव करना चाहते हैं। प्रदर्शनी में यूपीडा का स्टाल दर्शकों के आकर्षण का केन्द्र रहा। इसे इण्डियन एब्राड पब्लिकेशंस आई0एन0बी0 के चीफ आॅपरेटिंग आॅफिसर, यू0एस0 मीडिया  राजीव भाम्बरी पत्रकार  विंसेन्ट राॅस, फोर्थ वाॅयस मीडिया नेटवर्क के एडिटर-इन-चीफ डाॅ0 शिव कुमार राय, अपोलो हार्ट इन्स्टीट्यूट के प्रोफेसर डाॅ0 विवेक गुप्ता सहित अनेक लोगों ने देखा और इसकी सराहना की। 

प्रदर्शनी में आगन्तुकों को बताया गया कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर लोगों को विश्व स्तरीय सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इस मार्ग पर हाईवे ट्रैफिक मैनेजमेन्ट सिस्टम से आपात कालीन स्थिति में यातायात का कंट्रोल रूम से सीधा सम्पर्क करने हेतु प्रत्येक दो-दो कि0मी0 इर्मेजेंसी काल बाक्स की व्यवस्था होगी, जिससे यात्री त्वरित सम्पर्क स्थापित कर पाएंगे। मार्ग पर दुघर्टना की स्थिति से निपटने के लिए चाक-चैबन्द व्यवस्था होगी। इसके अन्तर्गत दो ट्रामा सेन्टर तथा प्रत्येक 60 कि0मी0 पर एक एम्बुलेंस की व्यवस्था रहेगी।

प्रदर्शनी में लखनऊ-बलिया (वाया आजमगढ़) ‘पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे’ का रोडमैप तथा परियोजना की विस्तृत जानकारी स्टैन्डीज़ तथा एल0ई0डी0 पर फिल्म के माध्यम से दी गयी। 

मुख्यमंत्री के भ्रमण के दौरान व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्य मंत्री अभिषेक मिश्रा, मुख्य सचिव आलोक रंजन, प्रमुख सचिव एन0आर0आई0 विभाग संजीव सरन तथा सूचना निदेशक आशुतोष निरंजन भी मौजूद थे।