जिला पंचायत अध्यक्ष चुनावों में लहराया सपा का परचम

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनावों में लहराया सपा का परचम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी ने वाराणसी से सांसद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में हुए जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को जोरदार पटकनी दी है। सपा की प्रत्याशी अपराजिता ने बीजेपी प्रत्याशी को 30-17 के अंतर से हराया। एक वोट अवैध घोषित किया गया। तीन बजे मतगणना शुरू होते ही अपराजिता ने बढ़त बना ली और कुछ मिनटों में ही परिणाम सामने आ गया। एक वोट अवैध घोषित किया गया।

अपराजिता के पक्ष में 30 सदस्यों ने वोटिंग की, जबकि बीजेपी के अमित सोनकर को 17 मत मिले। बनारस में कुल 48 जिला पंचायत सदस्य हैं। दरअसल, गुरुवार को भारी गहमागहमी के बीच हुए मतदान में जिप सदस्यों ने तेजी दिखाई और मात्र एक घंटे 55 मिनट में 33 वोट पड़ गए। बाद में यह आंकड़ा 45 पहुंच गया। तीन बजे तक सभी सदस्यों ने मतदान कर दिया था।

आज यूपी में 36 जिला पंचायत अध्यक्ष की सीटों पर हुए चुनाव के परिणाम घोषित हुए थे। चुनाव में सपा ने भारी जीत हासिल की है। वहीं, बीजेपी और बीएसपी सहित पूरा विपक्ष धाराशायी हो गया है। 74 सीटों में 60 सीटों पर सपा का कब्जा हो गया है। इसके अलावा बीजेपी को पांच, बीएसपी को चार, कांग्रेस और रालोद एक-एक सीट पर जीत मिली। गौरतलब है कि प्रदेश के 74 में से 38 जिलों में निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष चुने जा चुके हैं, जिसमें 23 महिलाएं हैं। इसमें 11 महिलाओं के लिए आरक्षित और सामान्य सीट शामिल हैं।

Lucknow, Uttar Pradesh, India