बाजार में आया बाबा का नूडल

बाजार में आया बाबा का नूडल

नई दिल्ली: योग गुरु बाबा रामदेव द्वारा प्रवर्तित एफएमसीजी कंपनी पतंजलि आयुर्वेद ने 'पौष्टिक' इंस्टैंट नूडल पेश किया है जो नेस्ले के मैगी ब्रांड से मुकाबला करेगा। नेस्ले का यह उत्पाद भी भारतीय बाजार में पांच महीने के प्रतिबंध के बाद पिछले सप्ताह फिर पेश किया गया है।

अपने उत्पादों की मांग पूरी करने के लिए पतंजलि साल भर के अंदर पांच नई मैन्युफैक्चरिंग यूनिटों की स्थापना करने की तैयारी में है. जो दिल्ली एनसीआर, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश में स्थापित की जाएंगी। इन संयंत्रों में पतंजलि के अन्य उत्पाद भी बनेंगे। रामदेव ने संवाददाताओं से कहा, 'दिसंबर के अंत तक हमारा नूडल 10 लाख दुकानों में आएगा। हम अपनी उत्पादन क्षमता बढ़ा रहे हैं।' हालांकि उन्होंने नए संयंत्रों की स्थापना में होने वाले निवेश का ब्योरा नहीं दिया।

पतंजलि ने 70 ग्राम के आटा नूडल की कीमत 15 रुपये रखी है और दावा किया गया है कि यह प्रतिस्पर्धियों के मुकाबले सस्ता है। उन्होंने कहा, 'यह नूडल हमारे प्रतिस्पर्धियों के मुकाबले 10 रुपये सस्ता है, जो आटा नूडल 25 रुपये में बेच रहे हैं।' इस नूडल में राइस ब्रान ऑयल का उपयोग किया गया है न कि पाम ऑयल का जिसका उपयोग अन्य विनिर्माता करते हैं। इसके उत्पाद रिलायंस फ्रेश, बिग बाजार, डी मार्ट और पतंजलि के अपने खुदरा नेटवर्क में उपलब्ध है। नेस्ले इंडिया ने पिछले सप्ताह बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा एफएसएसएआई और महाराष्ट्र एफडीए का प्रतिबंध हटाने के बाद मैगी नूडल भी फिर से पेश किया।

रामदेव ने कहा कि पतंजलि इस साल के अंत तक अब शिशुओं के लिए देखरेख, त्वचा सुरक्षा और पौष्टिक पूरक आहार भी पेश करेगी। कंपनी कपड़ा क्षेत्र में भी प्रवेश करेगी और योग के लिए वेश-भूषा आदि बनाएगी।

रामदेव ने कहा, हम दिसंबर के अंत तक 'शिशु केयर' ब्रांड के तहत बच्चों की देखभाल के उत्पाद, सौंदर्य ब्रांड के तहत सौंदर्य की देखभाल से जुड़े उत्पाद, 'पावर वीटा' ब्रांड के तहत पूरक पौष्टिक आहार पेश करेंगे। हम 'वस्त्रम' ब्रांड के तहत कपड़ा क्षेत्र में भी प्रवेश करेंगे। कंपनी ने 2014-15 में 2,007 करोड़ रुपये का कारोबार किया था और उम्मीद है कि यह इस साल 5,000 करोड़ रुपये हो जाएगा।

रामदेव ने कहा, 'हमें उम्मीद है कि इस साल बिक्री में 150 प्रतिशत वृद्धि होगी और कारोबार 5,000 करोड़ रुपये के स्तर को पार कर जाएगा।' यह पूछने पर कि क्या पतंजलि आयुर्वेद को शेयर बाजार में सूचीबद्ध कराने की योजना है, उन्होंने कहा, नहीं, अभी नहीं।