अपने 100वें  टेस्ट को यादगार बनाना चाहेंगे डिविलियर्स

अपने 100वें टेस्ट को यादगार बनाना चाहेंगे डिविलियर्स

बेंगलुरू। भारत के खिलाफ मोहाली में पिछले सप्ताह पहला टेस्ट हारकर चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला में 0-1 से पिछड़ चुकी दक्षिण अफ्रीकी टीम के धुरंधर बल्लेबाज अब्राहम डिविलियर्स ने कहा कि दक्षिण अफ्रीकी टीम पर बेंगलुरू में होने वाले दूसरे मैच में श्रृंखला में वापसी का दबाव रहेगा।

चिन्नास्वामी स्टेडियम में डिविलियर्स ने पत्रकारों से कहा कि यह मेरा 100वां टेस्ट मैच होगा, लेकिन मैं इसे लेकर किसी तरह का दबाव महसूस नहीं कर रहा। हां, लेकिन श्रृंखला में पीछे होने का दबाव जरूर है। मैं अपना योगदान देना चाहता हूं और अपनी टीम को उस स्थिति में पहुंचाना चाहूंगा जहां से हम जीत हासिल कर सकें।

भारत को तीन मैचों की टी-20 श्रृंखला और पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में मात देने के बाद दक्षिणी अफ्रीकी टीम को मोहाली टेस्ट में तीसरे ही दिन बड़ी हार झेलनी पड़ी। अपने 100वें मैच को ज्यादा तूल दिए जाने को नकारते हुए डिविलियर्स ने कहा कि अपने देश का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात है, हालांकि बेंगलुरू में खेलना उनके लिए वैसे भी खास है, क्योंकि वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में बेंगलुरू की फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का हिस्सा रहे हैं।

डिविलियर्स ने कहा कि मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैं अपने करियर का 100वां मैच कहां खेल रहा हूं, जैसा कि मैंने 50वें मैच को लेकर भी कोई महत्व नहीं दिया था, लेकिन बेंगलुरू में खेलने मेरे लिए विशेष है। यहां वापस लौटकर मैं बेहद खुश हूं। मैं अमूमन भारत में घूमने का लुत्फ उठाता हूं। मैं आईपीएल के लिए यहां लौटना पसंद करता हूं।

डिविलियर्स ने हालांकि स्वीकार किया कि दक्षिण अफ्रीका चूंकि अब तक अन्य देशों में तो टेस्ट श्रृंखला जीतने में सफल रही है, लेकिन भारत में उसे अब तक श्रृंखला जीतने का मौका नहीं मिला है, ऐसे में पहली बार यह उपलब्धि हासिल करना विशेष होगा।