मायावती के दावे का बीजेपी ने उड़ाया मज़ाक

मायावती के दावे का बीजेपी ने उड़ाया मज़ाक

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि बिहार चुनाव में 2 प्रतिशत मत पाने वाली बसपा यूपी में अगली सरकार उनकी होगी के दावे कर रही है। प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि बिहार में जनता का जनादेश सिर माथे पर किन्तु भाजपा पर निशाना साधती बसपा प्रमुख अपनी स्थिति का भी आकलंन कर ले, उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए कहा कि बिहार में 1 प्रतिशत मत पाने वाले भी मोदी और अमित शाह पर बयानबाजी करने में जुटे है।

मंगलवार को पार्टी मुख्यालय पर यूपी में बसपा की सरकार बनेगी के बसपा प्रमुख के दावो की खिल्ली उड़ाते हुए प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि बिहार के चुनाव में लगभग सभी सीटो पर चुनाव लड़ने के बावजूद बसपा को कुल 2 प्रतिशत ही मत प्राप्त हुए, अपनी स्थिति का समीक्षा के बजाय बसपा प्रमुख लगभग 25 प्रतिशत मत पाने वाली भाजपा पर ठीकरा फोड़ अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल बनाने में जुट गयी है, इसीलिए वे यह तर्क दे रही है कि आमने-सामने की लड़ाई में तथा बीजेपी गठबंधन की सीटे बहुत कम होने की वजह से बीएसपी को नुकसान हुआ। उन्होनें कहा कि पार्को और मूर्तियों के नाम पर जनता के धन का हुए दुरूपयोग पर माफीनामा में जुटी बसपा प्रमुख सरकार बनाने के तो दावे कर रही है किन्तु भ्रष्टाचार की जो बेल उनके शासनकाल में पल्लवित और पुष्पित हुई थी वह जनता को बखूबी याद है।

उन्होंने कहा कि विकास का दंभ भरने वाले सपाई नेतृत्व की हालत बिहार में कैसी रही ये नतीजो से स्पष्ट है। विकास के जिस माडल की चर्चा सपाई करते है उन दावो की भी हवा निकली, नतीजों के बाद सपाई नेतृत्व का विश्वास डगमगाने लगा है इसलिए अब बात हो रही है कि समान विचारधारा के लोगो के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने की कोशिश होगी। अपने वजूद के लिए संर्घषरत कांग्रेस दूसरों की वैशाखी के भरोसे बिहार में मिले जनसमर्थन पर इतरा रहे है। इसलिए वे कर्मवीर मोदी को भाषणवीर बताने में जुटी है। हम तो मोदी के एक-एक पल का हिसाब आमजन को देने को तैयार है किन्तु वे तो अपने नेता के दौरे की जगह तक बता पाने में असमर्थ रहे है।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि बिहार से मिले जनादेश के प्रति पूरी तौर पर आदर और सम्मान। इन नतीजों की समीक्षा के बाद आवश्यक सुधार करते हुए अपने राजनैतिक रणनीति को धार देते हुए पार्टी के कार्यकर्ता उ0प्र0 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार हो इसके लिए जुटेंगे।

Lucknow, Uttar Pradesh, India