गंगा और गोमती को साथ लेकर चलें: राज्यपाल

गंगा और गोमती को साथ लेकर चलें: राज्यपाल

लखनऊः उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज संस्कृत विद्यापीठ प्रागंण में आयोजित प्रथम गोमती उत्सव का विधिवत उद्घाटन किया। इस अवसर पर पद्मभूषण गोपाल दास नीरज, डाॅ0 उदय प्रताप सिंह, अध्यक्ष उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। गोमती उत्सव का आयोजन गोमती नदी को स्वच्छ एवं निर्मल बनाये जाने तथा जनभागीदारी सुनिश्चित करने की दृष्टि से श्री रामकृष्ण यादव, कवि एवं पत्रकार श्री सर्वेश अस्थाना व उनके सहयोगियों के प्रयासों से किया गया है। 

राज्यपाल ने इस अवसर पर सभी को दीपावली की अग्रिम बधाई देते हुए कहा कि हमारे देश में नदियाँ आस्था का विषय हैं। गंगा और गोमती को साथ लेकर चलें। देश की सभी नदियों को निर्मल बनाने के लिए जनजागरण की जरूरत है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि गंगा महोत्सव काफी दिनों से आयोजित किया जा रहा है, ऐसे में गोमती उत्सव का आयोजन प्रसंशनीय है। गोमती उत्सव अपने सांस्कृतिक इतिहास के साथ शानदार उत्सव के रूप में याद किया जाये, इसका भी प्रयास किया जाना चाहिए।

राज्यपाल ने इस अवसर पर शिक्षा, चिकित्सा, कला, खेल तथा समाज सेवा से जुड़ लोगों को शाॅल, प्रशस्ति पत्र व पुष्प गुच्छ देकर गोमती गौरव सम्मान से अलंकृत किया। राज्यपाल ने पूर्व महापौर लखनऊ पद्मश्री डाॅ0 एस0सी0 राय, प्रकाश सिंह अवकाश प्राप्त आईपीएस, श्रीराम अरूण अवकाश प्राप्त आईपीएस, डाॅ0 सुनील प्रधान, जगदीश गांधी, योगेश प्रवीन, सचिव अग्रवाल, न्यायमूर्ति एच0एन0 तिलहरी, अवनीश विद्यार्थी, प्रो0 कमला श्रीवास्तव, वरिष्ठ पत्रकार योगेश मिश्रा, निगहत खान, अनूप कुमार, पद्मा गिडवानी, के0कान्त अस्थाना, डाॅ0 अशोल पाण्डे, चन्द्र किशोर रस्तोगी, सुशांत त्रिपाठी, मनोरमा लाल, डाॅ0 अनिल सिंह, सरिता श्रीवास्तव, मास्टर तनमय चतुर्वेदी, अशोक बाजपेयी, सिन्धी समाज के प्रतिनिधि मुरलीधर आहूजा, जयन्त कृष्णा सहित अन्य विशिष्टजनों को गोमती गौरव सम्मान से सम्मानित किया।

राज्यपाल ने इस अवसर पर उपस्थित सभी लोगों को गोमती नदी को निर्मल बनाने के लिए शपथ भी दिलायी। कार्यक्रम में भोजपुरी गायकमनोज तिवारी ने भी अपनी प्रस्तुति दी। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India