बढ़ती साम्प्रदायिक घटनाएं सरकार की विफलता की द्योतक: निर्मल खत्री

बढ़ती साम्प्रदायिक घटनाएं सरकार की विफलता की द्योतक: निर्मल खत्री

लखनऊ: प्रदेश के विभिन्न जनपदों में हो रहीं साम्प्रदायिक घटनाएं राज्य सरकार की विफलता और प्रशासन की अक्षमता को उजागर करती हैं, इसकी जितनी भी निन्दा की जाय, कम है। सरकार और शासन-प्रशासन को मूर्ति विसर्जन एवं जुलूस जैसे धार्मिक आयोजनों की जानकारी होने के बावजूद भी इन घटनाओं पर रोक न लगा पाना यह साबित करता है कि जानबूझकर लापरवाही बरती गयी है। इन घटनाओं से ऐसा प्रतीत होता है कि प्रदेश में सरकार नाम की कोई चीज नहीं बची है। 

उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डाॅ0 निर्मल खत्री ने कहा कि जिस प्रकार एक के बाद एक करके कानपुर, फतेहपुर, कुशीनगर, जौनपुर, बलिया, संतकबीरनगर, कन्नौज, बरेली, बांदा, बदायूं, लखीमपुरखीरी, मुरादाबाद सहित लगभग बीस से पच्चीस जनपदों में धार्मिक आयोजन को लेकर साम्प्रदायिक घटनाएं हो चुकी हैं जिसके चलते तमाम जिलों में अघोषित कफर््यू लगे हैं। साम्प्रदायिक दलों की शह पर अराजक तत्वों द्वारा प्रदेश की गंगा जमुनी तहजीब को बिगाड़ने का कार्य किया जा रहा है। आम जनमानस में भय का वातावरण व्याप्त है। पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को इन घटनाओं को शांत करने के बजाय अपनी जान बचानी पड़ रही है। पुलिस का खुफिया तंत्र भी पूरी तरह नाकाम साबित हुआ है जो कि सरकार की विफलता को दर्शाता है।

डाॅ0 खत्री ने कहा कि मूर्ति विसर्जन और ताजिए दफन के आयोजन परम्परागत तौर पर प्रत्येक वर्ष होते हैं। ऐसे में शासन और प्रशासन को इसकी पूरी जानकारी रहती है। इन आयोजनों में खास सतर्कता बरतने की आवश्यकता रहती है। इन घटनाओं में दोषी लोगों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। किन्तु पुलिस और प्रशासन द्वारा ऐसे अवसरों पर कोई कदम न उठाये जाने के चलते आज पूरा प्रदेश साम्प्रदायिकता की आग में जल रहा है। प्रदेश में अफरा तफरी का माहौल व्याप्त है। 

प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वह प्रदेश की गंगा जमुनी तहजीब को बनाये रखने के लिए धैर्य से काम लें और शांति व्यवस्था कायम रखने में पूरा सहयोग करें। इसके साथ ही डाॅ0 खत्री ने राज्य सरकार से मांग की है कि जिन-जिन जिलों में घटनाएं हुई हैं वहां अविलम्ब सख्त कदम उठाते हुए अराजक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करते हुए इन घटनाओं के दोषियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित करें।

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता वीरेन्द्र मदान ने बताया कि डाॅ0 निर्मल खत्री के निर्देशानुसार आज पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री श्रीप्रकाश जायसवाल अपने सहयोगियों के साथ वस्तुस्थिति की जानकारी हासिल करने के लिए कन्नौज गये जिन्हें बार्डर पर ही मानीमऊ चैकी पर प्रशासन द्वारा रोका गया। जिससे वह घटनास्थल पर नहीं पहुंच पाये। लेकिन वहां उपस्थित कंाग्रेस के नेताओं, जिलाध्यक्ष श्री विजय मिश्र, पूर्व अध्यक्ष श्रीमती ऊषा दुबे, अनुज मिश्रा, शामशाद खान, इस्लामुल हक के साथ मौजूद सैंकड़ों की संख्या में कांग्रेसजन एवं आम जनता से घटना की जानकारी प्राप्त की। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India