आज़म का कटाक्ष, देश में मुसलमानों को रहना है तो पिटना है

आज़म का कटाक्ष, देश में मुसलमानों को रहना है तो पिटना है

लखनऊ: प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खां की देश के अल्पसंख्यकों को लेकर तल्खी जारी है। लखनऊ के आज कैबिनेट बैठक के बाद पत्रकारों से घिरे नगर विकास व अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आजम खां ने 'बीफ' को लेकर बात शुरू की और मुसलमानों की और देश में मुसलमानों की स्थिति पर पहुंचने के बाद जमकर बरसे। आजम खां ने कहा कि बीफ को लेकर सजा देनी है तो पहले जस्टिस मार्कण्डेय काटजू व लेखिका शोभा डे सहित आधे हिन्दुस्तान को सजा दी जानी चाहिए। अगर बीफ खाने वाले हिन्दुस्तान छोड़ दें तो कम से कम यह भी बताया जाए कि वे जाएं तो कहां जाएं।

इसके बाद उन्होंने तल्खी भरे लहजे में कहा कि देश में मुसलमान कमजोर कौम है और 1947 के बाद से उसने बहुत तकलीफें झेली हैं। आजम खां ने कहा कि बीफ को लेकर देश में मुसलमानों को मारना तथा मुंह काला करना ठीक नहीं है। इसपर कोई रास्ता निकाला जाना चाहिए। बेहतर हो कि हिन्दुस्तान के नक्शे पर मुसलमान लिख कर इसे ही काला कर दें। आजम ने तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि मुसलमान गुलाम हैं, उनकी हैसियत नहीं है और उन्हें रहना है तो पिटना है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India