कलाम से मिला ज्ञान व सम्मान मेरी अनमोल पूँजी: शिवपाल

कलाम से मिला ज्ञान व सम्मान मेरी अनमोल पूँजी: शिवपाल

लखनऊ.उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव आज लोक निर्माण विभाग के पे्रक्षागृह  विश्वैसरैया में भारत के पूर्व राष्ट्रपति डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम के जन्म दिन पर आयोजित संगोष्ठी में डा0 कलाम को नमन करते हुए कहा कि वे हिन्दुस्तान की शान एवं एकता के प्रतीक थे। श्री यादव ने कहा कि आज की युवा आबादी को उनकी शादगी एवं काबलियत से बहुत कुछ सीखने एवं प्रेरणा लेने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि डा0 कलाम वास्तव में एक सच्चे देशभक्त एवं महान वैज्ञानिक थे। श्री यादव ने कहा कि एक छोटे से परिवार में जन्म लेकर विभिन्न पदों को सुशोभित करते हुए भारत के सर्वोच्च पद पर पहँुच कर देश की शान को बढ़ाया तथा देश की तरक्की एवं विकास को मार्ग प्रशस्त  किया। उनका सपना था  कि भारत 2020 में सभी क्षेत्रों में पूर्ण विकसित होकर पूरे विश्व का नेतृत्व करे। श्री यादव ने सन् 2000 में उनके हाथों से गहण किये गये सहकारिता रत्न को याद करते हुए कहा कि सम्मान समारोेह के बाद उनसे मिला ज्ञान व सम्मान मेंरे लिए अनमोल पूँजी है। श्री यादव ने कहा कि वे सम्प्रदायिकता के विरोधी एवं भारत के ऐसे स्वप्नदृष्टता थे जिसमें जातीय व सम्प्रदायिक दंगों के लिए कोई जगह नहीं थी। श्री यादव ने कहा कि डा0 कलाम सही मायने में गाॅधीए डा0 लोहिया एवं जे0पी0 विरासत के विभूति थे जिन्होंने अपना पूरा जीवन भारत की एकताए अखण्डता एवं सर्वोेमुखी विकास में लगाया।

श्री शिवपाल सिंह यादव ने  कहा कि डा0 कलाम बच्चों में अच्छे संस्कार लाकर उन्हें देश के विकास एवं शान्ति के लिए प्रेरणा प्रदान करते थे। उन्होंने कहा कि इसीलिए वे जहाॅ भी जाते थे बच्चों से जरूर मिलते थे। श्री यादव ने कहा कि डा0 कलाम का मानना था कि देश में समृद्वि एवं खुशहाली बच्चों के द्वारा ही लायी जा सकती है। उन्हांेने कहा कि उनके बताये रास्ते पर चलकर ही देश को प्रगति एवं विकास के रास्ते पर लाया जा सकता है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India