मैनपुरी में गोवंश हत्या अफवाह फैलाई गयी थी: एडीजी

मैनपुरी में गोवंश हत्या अफवाह फैलाई गयी थी: एडीजी

वीडियो से होगी उपद्रवियों की पहचान, कड़ी कार्रवाई के निर्देश  

लखनऊ: यूपी के एडीजी कानून-व्यवस्था दलजीत सिंह चौधरी ने कहा है कि मैनपुरी में हुई घटना गौवंश हत्या का मामला कतई नहीं है। यह अफवाह फैलाई गई, जबकि हकीकत यह है कि एक जानवर की मौत के बाद उसे दफनाने के दौरान कुछ लोगों ने जबरन दो लोगों की पिटाई शुरू कर दी।

उन्होंने कहा कि मैनपुरी के करहल में घनश्याम के एक जानवर की मौत हो गई थी। उसने गांव के ही किसी इलियास को उसे दफनाने के लिए दिया था। इलियास इस काम में लगा था तो कुछ लोगों ने अफवाह फैला दी। उसके साथी रफीक और लाला को लोग पकड़कर पीटने लगे। पुलिस ने सूचना मिलने पर उन्हें बचाया और भीड़ को काबू किया तो कुछ लोग आगजनी पर उतर आए। उन्होंने पुलिस की जीप पलट दी और मोटरसाइकिल में आग लगा दी। 

एडीजी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने जिला पुलिस को निर्देश दिए हैं कि वे वीडियो देख कर उपद्रवियों की पहचान करें। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि आगरा में आईजी जोन को मौके पर भेजा गया है और एक कंपनी पीएसी भेजी गई है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India