भारत की गेंदबाज़ी में गहराई की कमी: शोएब अख्तर

भारत की गेंदबाज़ी में गहराई की कमी: शोएब अख्तर

नयी दिल्ली : पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भारतीय गेंदबाजी आक्रमण की आलोचना करते हुए इसे ऐसी इकाई करार दिया है जिसमें गहराई की कमी है। उन्होंने कहा कि टीम में विकेट हासिल करने वाला एकमात्र गेंदबाज आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन हैं।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज में भारत की हार पर शोएब ने कहा, गेंदबाजी आक्रमण में कोई गहराई नहीं है। अश्विन अगर अपने कोटा के चार ओवर खत्म कर ले तो उनके बाद कोई ऐसा गेंदबाज नहीं है तो विरोधी बल्लेबाजी क्रम को ध्वस्त कर सके। उनके पास यहां तक कि ऐसे तेज गेंदबाज नहीं हैं तो विरोधी बल्लेबाजों को परेशान कर सकें। भारतीय टीम की मुश्किल तेज गेंदबाजी और दूसरा स्पिनर है।

इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, मोहम्मद शमी के अनफिट होने और उमेश यादव के नहीं चुने जाने के कारण उनके पास कोई प्रेरणास्रोत नहीं है। मुझे लगता है कि भारतीय टीम को टी20 खेलने के प्रति अपने रवैये को बदलना होगा और धोनी को उन संयोजनों पर गौर करना होगा जिन्हें वह आजमाना की कोशिश कर रहे हैं। अंबाती रायुडू की जगह अजिंक्य रहाणे को खिलाया जाना चाहिए।

शोएब का मानना है कि टी20 मैचों का समय सही नहीं है और इससे पहले दो मैचों में भारत की हार में बड़ी भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि वे मैचों में समय में बदलाव कर सकते थे जो उनके अनुकूल हो और संभवत: नतीजा अलग होता। मेरा मानना है कि अगर वे सीरीज सीरीज के दौरान तीन स्पिनर खिलाते हैं, जो उनका मजबूत पक्ष है, तो वे वनडे सीरीज जीत सकते हैं। शोएब ने कल कटक में दर्शकों के बर्ताव की भी आलोचना की।

उन्होंने कहा, मैं प्रशंसकों की नाराजगी को समझ सकता हूं और मैं यह नहीं कह रहा कि जब आपकी टीम इतना खराब खेले तो इसे सही नहीं ठहराया जा सकता। लेकिन बोतलें फेंकना नाराजगी जाहिर करने का तरीका नहीं है। भारतीय क्रिकेट की एक छवि है और इस तरह की घटनाएं क्रिकेट जगत में काफी गलत संदेश देती हैं।