कुत्ते पालने वाले हम गौ-पालकों को न सिखाए: लालू

कुत्ते पालने वाले हम गौ-पालकों को न सिखाए: लालू

पटना। हिंदुओं के बीफ खाने को लेकर विवादास्पद बयान देकर चौतरफा घिरे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने अब स्वयं को "गौ पालक" और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को "कुत्ता पालक" करार दिया है। यादव ने आज फिर माइक्रो ब्लॉगिंग साइट Twitter पर भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर जमकर शब्दवाण चलाए। उन्होंने एक घंटे के अंदर छह Tweet कर बीफ वाले मुद्दे पर भाजपा पर जमकर निशाना साधा।

राजद सुप्रीमो ने लिखा, ""कुत्ते पालने वाले हम गौ-पालकों को न सिखाए। भाजपा वालों के घर में गाय नहीं कुत्ते बंधे रहते है और घर के बाहर लिखा होता है "कुत्तों से सावधान" ।"" उन्होंने गाय को माता का दर्जा देते Tweet किया , ""हमारी पवित्र गौ-माता के बारे में बात करने से पहले इन पाखंडियों से पूछो गौ-सेवा करने के लिए इनमें से कितनों के पास अपनी गौशाला है। मेरी गौशाला में हरदम 100 -500 गाएं रहती है, हमारे कुल देवता से लेकर अब तक हम लोगों का गाय माता पालने का गौरवशाली इतिहास रहा है।""

राजद सुप्रीमो यहीं नहीं रूके और कुछ देर बाद उन्होंने फिर Tweet किया, जिसमें उन्होंने भाजपा को सीधे निशाने पर लेते हुए लिखा "" ये अफवाह पार्टी के लोग बहुत बुरी तरह हार रहे है जब इन्हें कुछ मुद्दा नहीं मिला तो अपने पुराने आजमाए हुए साम्प्रदायिक ढर्रे पर आ गए है।"" उन्होंने भाजपा को जनाधारवीहिन, जुझारूहीन, नेतृत्वहीन, अर्थ-हीन, कर्म-हीन, आदर्श-हीन, विवेक-हीन लोगों का झुंड बताया और कहा कि बिहार में इनके पास एक भी चेहरा नहीं है।

उन्होंने अंतिम Tweet में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर सीधा हमला करते हुए लिखा, "" कहां गया बीजेपी का छk विकास का एजेंडा?? बताओ? ये बिहार है जुमला बाबू, यहां की जागरूक जनता तुम्हारी तुच्छ करतूतों को भली भांति जानती है। वहीं दूसरी तरफ यादव ने आज शेखपुरा की रैली में अपने संबोधन में फिर एक बार साफ किया कि उनके बयान को गलत तरीके से लिया गया और अब उसे प्रचारित किया जा रहा है। रैली के दौरान उन्होंने खुद को गौ पालक हैं और भाजपा को कुत्ता पालक कह दिया।