पिडिलाइट ने की आईपीएससी के साथ साझेदारी

पिडिलाइट ने की आईपीएससी के साथ साझेदारी

एडहेसिव, सीलेंट व प्लम्बिंग सेगमेंट की अग्रणी कंपनियों में से एक पिडिलाइट इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने “प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना“ (पीएमकेवीवाई) के अंतर्गत मुंबई में प्लम्बिंग से जुड़े लोगों के लिए पहले कौशल विकास कार्यक्रम की शुरूआत की। 50 से अधिक प्लंबर्स को पहले से ही इस कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षित व प्रमाणित किया जा चुका है। पिडिलाइट का लक्ष्य इस वित्तीय वर्ष में देश भर के 1000 से अधिक प्लंबर्स को प्रशिक्षित करना है।

पीएमकेवीवाई की शुरुआत प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कौशल विकास मंत्रालय और उद्यमिता (एमएसडीई) के अंतर्गत की गई थी। इस स्किल सर्टिफिकेशन व रिवॉर्ड स्कीम का उद्देश्य बड़ी संख्या में भारतीय युवाओं को कौशल प्रशिक्षण के लिए प्रेरित करके रोजगार प्राप्त करने व अपनी आजीविका कमाने में सक्षम बनाना है।

प्लम्बिंग को राष्ट्रीय कौशल विकास कार्यक्रम के तहत कौशल विकास के कोर पहल के रूप में चुना गया है और इस पहल के अंतर्गत पिडिलाइट द्वारा इंडियन पलम्बिंग स्किल काउंसिल (आईपीएससी) के साथ साझेदारी करके पूरे भारत में पलम्बर्स को प्रशिक्षित किया जाएगा।

पिडिलाइट लिमिटेड के सेल्स, कंज्यूमर प्रोडक्ट-मेंटनेंस के अध्यक्ष श्री राजेश जोशी ने कहा कि इंडियन पलम्बिंग स्किल काउंसिल के साथ हुई इस साझेदारी पर हमें गर्व है। एक इंडस्ट्री के तौर पर पलम्बिंग द्वारा इमारतों और उसमें रहने वालें लोगों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के अलावा पीने का पानी, स्वच्छता और जल संरक्षण प्रदान करने में अहम भूमिका निभाता है।