शुक्रिया अदा कर मां के चेहरे बिखेरी मुस्कान पर

शुक्रिया अदा कर मां के चेहरे बिखेरी मुस्कान पर

कहा जाता है कि ईश्वर हर जगह नहीं हो सकता, इसलिये उसने ‘मां‘ की रचना की। मां, हमारी पहली दोस्त, गाइड, टीचर और प्रेरणा एवं बहुत कुछ है। हम अक्सर उसका आभार जताया भूल जाते हैं, जिसके प्यार और सहयोग ने हमें हिम्मत दी। इस रविवार, 4 अक्टूबर को जि़दगी पर रात आठ बजे शुक्रिया के एक एपिसोड में दिखाया जायेगा किस प्रकार एक बेटी ने निःस्वार्थ रूप से परवरिश करने वाली अपनी मां का शुक्रिया अदा कर उनके चेहरे पर मुस्कान बिखेरी। 

ऐश्वर्या, जोकि पेशे से डाॅक्टर है, अपनी मां को धन्यवाद देना चाहती है तथा उसे लगता है कि शुक्रिया इसके लिये सर्वश्रेष्ठ मंच है। वह अपनी मां का शुक्रिया अदा करना चाहती है, जिन्होंने अपनी बेटियों की परवरिश करने में पूरा जींवन समर्पित कर दिया और उन्हें एक मजबूत नागरिक बनने की प्रेरणा दी। ऐश्वर्या की अब शादी हो चुकी है तथा शादीशुदा जिंदगी एवं अपने पेशे में वह इतना अधिक उलझी है कि अपनी मां के साथ बिताने के लिये पर्याप्त समय नहीं मिल पाता है। उसे लगता है कि उसने अपनी मां के प्रयासों के लिये उनका उपयुक्त आभार नहीं व्यक्त किया है। ऐश्वार्य ने अपनी मां के लिये एक रोमांचक सरप्राइज की योजना बनाई है और अब स्पेशल सरप्राइज देने के लिये तैयार है।