मोदी राज में अब तक निवेशकों के तीन लाख करोड़ रुपये खा गया शेयर बाजार

मोदी राज में अब तक निवेशकों के तीन लाख करोड़ रुपये खा गया शेयर बाजार

मुंबई: शेयर बाजार में हाल में आई गिरावट से निवेश करने वालों की संपत्ति में इस साल अब तक तीन लाख करोड़ रुपये की कमी आई है। शेयरों की बिकवाली से बंबई शेयर में सूचीबद्ध सभी कंपनियों का बाजार मूल्यांकन हाल के दिनों में घटकर 95.40 लाख करोड़ रुपये रह गया। सभी सूचीबद्ध शेयरों के कुल बाजार मूल्य के आधार पर आकलित निवेशकों की कुल संपत्ति 2.95 लाख करोड़ रुपये कम होकर 95.40 लाख करोड़ रह गई। वर्ष 2014 में सभी सूचीबद्ध कंपनियों के बाजार मूल्यांकन के आधार पर निवेशकों की संपत्ति 28 लाख करोड़ रुपये बढ़ गई और कुल बाजार पूंजीकरण 98.36 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया। पिछले साल एक समय निवेशकों का बाजार पूंजीकरण 100 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को छू गया था। कंपनियों की कमजोर आय तथा वैश्विक स्तर पर नकारात्मक रुख से पिछली कुछ तिमाही से बाजार में उतार-चढ़ाव जारी है। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 2015 में अब तक 1,635.92 अंक या 5.94 प्रतिशत लुढ़ककर 25,863.50 अंक रह गया। उल्लेखनीय है कि एक समय सूचकांक 4 मार्च 2015 को अब तक के सबसे उच्च स्तर 30,024.74 अंक को छू गया था लेकिन बाद में इसमें गिरावट आई और 8 सितंबर को एक साल के न्यूनतम स्तर 24,833.54 अंक तक नीचे चला गया। सेंसेक्स में 24 अगस्त को 1,624.51 अंक की गिरावट आई। एक दिन में यह अब तक की सबसे बड़ी गिरावट थी। इससे निवेशकों को सात लाख करोड़ रुपये से अधिक का चूना लगा। चीन में आर्थिक नरमी तथा मुद्रा में अवमूल्यन से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई। वर्ष 2014 में सेंसेक्स 6,328.74 अंक या 30 प्रतिशत चढ़ा था। 2009 के बाद किसी एक साल में यह सबसे बड़ी तेजी थी। उस समय सेंसेक्स 7,817 अंक चढ़ा था।