आरएसएस ने किया था इमरजेंसी का समर्थन

आरएसएस ने किया था इमरजेंसी का समर्थन

पूर्व आईबी प्रमुख टीवी राजेश्वर का  दावा

नई दिल्ली : खुफिया ब्यूरो (आईबी) के पूर्व प्रमुख टीवी राजेश्वर ने दावा किया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने आपातकाल का समर्थन किया था और तत्कालीन संघ प्रमुख बालासाहेब देवरस ने इंदिरा गांधी से संपर्क स्थापित करने की कोशिश की थी।

राजेश्वर ने कहा कि 1970 में बालासाहेब देवरस संघ प्रमुख हुआ करते थे। उन्होंने आपातकाल के दौरान इंदिरा गांधी के उठाए कुछ कदमों का समर्थन किया था। गौर हो कि जून, 1975 में लगा आपातकाल 19 महीने चला था।

राजेश्वर ने यह दावा भी किया कि इंदिरा गांधी को पता था कि आपातकाल के दौरान क्या हो रहा है लेकिन लोगों पर इसके प्रभावों और इसके नतीजों की गंभीरता को शायद वह समझ नहीं पाईं। आपातकाल लागू करने के समय आईबी के उप-प्रमुख रहे राजेश्वर ने यह दावा भी किया कि इंदिरा गांधी शुरू में आपातकाल लागू होने के छह महीने बाद ही इसे हटाने का मन बना रही थीं, लेकिन अकूत शक्ति का आनंद ले रहे संजय गांधी इसके खिलाफ थे। राजेश्वर ने बताया कि इंदिरा गांधी और संजय गांधी से मिलना चाहते थे देवरस लेकिन इंदिरा ने मिलने से इनकार कर दिया था।

एक हिंदी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में राजेश्वर ने कहा कि न केवल वे (आरएसएस) इसके समर्थन में थे, बल्कि उन्होंने श्रीमती गांधी के अलावा संजय गांधी से भी संपर्क स्थापित करने की कोशिश की। राजेश्वर ने कहा कि यह ‘बिल्कुल सही’ है और वह पूरे यकीन के साथ यह कह रहे हैं। राजेश्वर ने इसकी पुष्टि की है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धार्थ शंकर रे ने ही आपातकाल का सुझाव दिया था। 2010 में उनका निधन हो गया था। जिन लोगों की गिरफ्तारी की जानी थी उनकी लिस्ट भी पीएम हाउस में ही बनी थी।

भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) से सेवानिवृत होने के बाद उत्तर प्रदेश और सिक्किम के राज्यपाल रह चुके राजेश्वर ने हाल में ‘दि क्रूशियल ईयर्स’ नाम की किताब लिखी है। 

India