गरीबी से हारकर पूरे परिवार ने दे दी जान

गरीबी से हारकर पूरे परिवार ने दे दी जान

इलाहबाद: इलाहाबाद में आज दोपहर एक टेम्पो ड्राइवर  ने अपनी पत्नी और तीन बेटों संग ट्रेन के आगे कूदकर मौत को गले लगा लिया। पूरे परिवार की खुदकशी की खबर मिलते ही सनसनी फैल गई। प्राथमिक जांच में घटना के पीछे आर्थिक तंगी और कर्ज की बात सामने आ रही है।

इलाहाबाद के झूंसी क्षेत्र के चकहरिहर वन मुहल्ले का रहने वाला राजेश उर्फ बबलू गुप्ता (40) टेंपो  चलाकर परिवार का पालता था। वह अपनी पत्नी गीता (35) और बेटों आदर्श उर्फ गोलू (15), सोनू (13) व निखिल (10) के साथ रहता था। राजेश आर्थिक रूप से काफी परेशान रहता था और जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए कर्ज भी लिया था। आज दोपहर राजेश पत्नी गीता के साथ कटका ओवर ब्रिज के आगे पहुंचा। उसके साथ उसके तीनों बच्चे भी थे। कुछ देर बाद सभी रेल पटरी पर लेट गए। करीब डेढ़ बजे वहां से पटना-सिकंदराबाद डाउन एक्सप्रेस गुजरी और पूरे परिवार के परखच्चे उड़ गए। पुलिस घटना के सही कारणों का पता लगा रही है। मुहल्ले में सूदखोरों की धमकी से परिवार के परेशान होने की भी चर्चा है।

Uttar Pradesh, India