धारा 144 के बावजूद कल्बे जवाद ने किया जलसा

धारा 144 के बावजूद कल्बे जवाद ने किया जलसा

लखनऊ: शिया वक्फ बोर्ड की सीबीआई जांच और फर्जी मुकदमों में गिरफ्तार किए गए युवकों की रिहाई की मांग को लेकर आज शाम  नाजिम साहब के इमामबाड़े विक्टोरिया स्ट्रीट पर विरोध सभा का आयोजन हुआ । जिला प्रशासन ने धारा 144 लगा दी थी मगर उसके बावजूद अपने ठीक समय पर सभा शुरू हुयी और जनता बड़ी संख्या में सरकार और प्रशासन के अत्याचारों दुर्व्यवहार के खिलाफ नाजिम साहब के इमामबाड़े पर जमा हुई। 

मौलाना ने कहा कि सरकार हम पर इतने जुल्म कर रही है क्या हम उनसे किसी मंत्रालय की मांग नही कर रहे हैं हमारी मांग सिर्फ यह है कि वक्फ बोर्ड की सीबीआई जांच हो और जो फर्जी मुकदमों में जवानों को गिरफ्तार किया गया है उन्हें रिहा किया जाए ।सी सीबीआई जांच से वह घबराता है जिसने खुद कोई बेईमानी की हो ,ये पूरी सरकार चोरों की सरकार है। हम अन्याय के खिलाफ ना कभी झुकेंगे और न झुकेंगे । मौलाना ने मुहर्रम के मद्देनजर महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा कि अगर सीबीआई जांच की मांग न मानी गई और गिरफ्तार युवकों को रिहा न किया गया तो इस साल का पूरा मुहर्रम बड़े इमामबाड़े में होगा। मौलाना ने कहा कि दिन में जितनी मजलसें होती हैं वे सब बड़े इमामबाड़े में होंगी ।जिन स्थानों पर दिन में मजलसें होती चली आई हैं वहां कम समय के लिए मजलिसें जरूर होगी क्योंकि प्राचीन मजलिस होनी चाहिए उसके बाद दिन के जितने कार्यक्रम होंगे वे सब बड़े इमामबाड़े में होंगे। मौलाना ने अधिक सख्त रुख अपनाते हुए कहा कि प्रशासन सुन ले बड़े इमामबाड़े में केवल दस दिनों तक मजलिसें नहीं होंगी बल्कि पूरे दो महीने आठ दिन वहीं सारे कार्यक्रम होंगे। मौलाना ने जाकरीन और उलेमा से अपील की है कि वे अपने प्राचीन तें अजाखानों में कम वक्त मै मजलिस करें और उसके बाद बड़े इमाम बाडे ़में कार्यक्रम करें ताकि इमामे जमाना की संपत्ति की सूरक्षा की जासके। मौलाना ने कहा कि जब तक सरकार हमारी मांगों पूरे नहीं करती कोई घोषणा वापस नहीं ली जाएगी।

मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने सरकार और जिला प्रशासन को अपने भाषण मै कहा कि सपा सरकार आगामी  चुनाव में अपनी हार सुनिश्चित कर चुकी है इसलिए हर जाति और हर धर्म के लोगों के साथ अन्याय और उत्पीड़न कर रही है। यह सरकार उत्तर प्रदेश को लूट लेना चाहती है ।अभी हाल में जो पुलिस भर्ती हुई है उसमें जियादा यादव जाति के हैं। इस सरकार ने मुसलमानों के साथ साथ हिंदुओं को भी ठगा है और यादव जात के साथ भी धोखा किया है क्योंकि सरकार जिन यादव पर मेहरबान है वह केवल कन्नौज, एटा और मैनपुरी के हैं। मौलाना ने अधिक कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि सपा सरकार एक मुसलमान मंत्री को दिखाकर हमेशा मुसलमानों को गुमराह करती रही है । सून्नी वक्फ बोर्ड में दो दिन लगातार आग लगी और एक लाख पच्चीस हजार वक्फ का रिकार्ड जल कर राख हो गया मगर किसी मुसलमान मौलवी का निंदा मै एक बयान तक नहीं आया। मौलाना ने कहा कि अगर अब भी मुसलमान जागरूक न हुए तो ये लोग उन्हें बेच खायेंगें । जिन लोगों के समर्पित भूमि पर अवैध कब्जे हैं, ईदगाह पर शादी हॉल बने हुए हैं, जिन्होंने पूरे मोहल्ले खरीद रखे हैं वह कभी सरकार और प्रशासन के खिलाफ आवाज नहीं उठा सकते क्योंकि यह सब उन्हीं के मुखबिर हैं। मौलाना ने नखास बाजार के दुकानदारों से विशेष संबोधन में कहा कि हम हमेशा हिंदू मुस्लिम और शिया सुन्नी एकता के समर्थक रहे हैं। हमारा उद्देश्य यहाँ विरोध प्रदरषन करना नहीं है हम बस सभा में महत्वपूर्ण घोषणायें करना चाहते हैं,यदि कोई  शांति भंग में लिप्त पाया जाता है तो वह हमारा आदमी नहीं होगा, जो लोग दंगा कराना चाहते हैं उनकी साजिश होगी।

Lucknow, Uttar Pradesh, India