महाराष्ट्र में आई प्रतिबंधों की संस्कृति हास्यास्पद: पूजा बेदी

महाराष्ट्र में आई प्रतिबंधों की संस्कृति हास्यास्पद: पूजा बेदी

मुंबई। अभिनेत्री पूजा बेदी का कहना है कि खासतौर से महाराष्ट्र में हाल के दिनों में पनप आई प्रतिबंधों की संस्कृति हास्यास्पद है, और इसे बंद किया जाना चाहिए। मुंबई में हाल ही में मांस बिक्री पर लागू चार दिवसीय प्रतिबंध के बारे में पूजा से पूछा गया तो उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि प्रतिबंध हास्यास्पद है।

हमें इन सभी प्रतिबंधों पर रोक लगानी चाहिए। हमें इस पूरी संस्कृति और प्रतिबंध जैसी चीजों पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए। अगर आप किसी पर प्रतिबंध लगाते हैं तो उन चीजों पर लगाइए जो हमारे लिए हानिकारक हैं, जैसे सिगरेट। धूम्रपान हमारे आसपास खड़े हुए लोगों के स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है। लेकिन, हम ऎसी चीजों पर प्रतिबंध नहीं लगाते।

पुर्नजन्म की अवधारणा पर उन्होंने कहा, मैं पिछले जन्म में काफी विश्वास रखती हूं। मैंने पिछले जीवन में कदम रखा और यह अनुभव किया कि मैं पिछले जन्म में क्या थी और मैंने क्यों इस दुनिया में जन्म लिया है। मुझे इन सबमें विश्वास है क्योंकि क्योंकि मैंने खुद यह देखा है।

उल्लेखनीय है कि बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने जैन धर्मावलंबियों के पर्युषण पर्व को ध्यान में रखते हुए मुंबई में चार दिनों के लिए मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा महाराष्ट्र में गोमांस की बिक्री पर भी प्रतिबंध है। पूजा बेदी "जो जीता वही सिकंदर" जैसी फिल्मों के लिए याद की जाती हैं।