बिहार को ललकारने वाले ने आज घुटने टेके

बिहार को ललकारने वाले ने आज घुटने टेके

पटना रैली में पीएम मोदी पर नितीश ने किये जमकर हमले 

पटना: बिहार में चुनावी गहमागहमी के बीच जेडीयू-आरजेडी और कांग्रेस महागठबंधन की गांधी मैदान में आयोजित स्वाभिमान रैली को संबोधित करते हुए राज्‍य के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, 'दुनिया की कोई ताकत अगर हमारे स्‍वाभिमान को ललकारेगी तो हम उसी तरह उसका उत्‍तर देंगे।

नीतीश ने कहा, 'चुनाव के नजदीक आने पर पीएम मोदी को सरकार बनने के 14 महीनों के बाद बिहार की याद आई। पीएम ने सरकार बनने पर 100 दिन के भीतर विदेशों में जमा काला देश में वापस लाने का वादा किया था, लेकिन सरकार बने 14 महीने बीत गए, आज तक कुछ नहीं हुआ।'

उन्‍होंने कहा, 'प्रधानमंत्री ने मेरे डीएनए को गड़बड़ कहा, मैं बिहार का हूं। हमारा डीएनए वही है, जो हर बिहारवासी का है। अब कल से पीएम कार्यालय में बिहार के लोग अपना डीएनए सैंपल भेजेंगे। उन्‍होंने हमारे स्‍वाभिमान को ललकारा है। पीएम मुझे अहंकारी कहते हैं, लेकिन हमाीर रग-रग में स्‍वाभिमान है, जिससे हम समझौता नहीं कर सकते। नालंदा की धरती का डीएनए गड़बड कैसे? जिन लोगों का देश्‍ा की आजादी की लड़ाई में कोई योगदान नहीं, वे डीएनए की बात करते हैं।' नीतीश कुमार ने पीएम पर निशाना साधते हुए कहा, हमने जेपी के चरणों में बैठकर लोकतंत्र का पाठ पढ़ा और पीएम हमारा डीएनए खराब बताते हैं।

नीतीश कुमार ने कहा, पीएम किस आधार पर बिहार में जंगलराज कहते हैं, मैं बता दूं कि आज बिहार में कानून का राज है। उन्‍होंने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा, महाराष्‍ट्र, गुजरात, छत्‍तीसगढ़, मध्‍य प्रदेश, हरियाणा और दिल्‍ली में कानून व्‍यवस्‍था बेहद खराब है। वहां की कानून व्‍यवस्‍था तो बीजेपी के हाथ में है तो वहां हालात क्‍यों नहीं सुधरे? उन्‍होंने कहा, बिहार में अपराध का औसत काफी कम है। उन्‍होंने कहा, पीएम द्वारा बिहार को दिया गया 1 लाख 25 हजार करोड़ का पैकेज जाली नोट जैसा है, जोकि देखने में तो नोट जैसा लगता है, लेकिन वह बाजार में नहीं चलता। उन्‍होंने स्‍वाभिमान रैली में बिहार को विशेष राज्‍य का दर्जा दिए जाने की मांग भी दोहराई।

नीतीश ने कहा कि आज स्वाभिमान रैली है और आज ही के दिन देश के प्रधानमंत्री को भूमि अधिग्रहण विधेयक पर झुकना पड़ा है। नीतीश ने कहा कि मोदी सरकार जमीन अधिग्रहण विधेयक लेकर आई थी, आज उसपर उसे कदम वापस लेने पड़े। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने 11वें 'मन की बात' कार्यक्रम में कहा कि उनकी सरकार भूमि अधिग्रहण अध्यादेश को फिर से जारी नहीं करेगी। यह अध्यादेश सोमवार को अप्रभावी हो जाएगा। रेडियो प्रसारण कार्यक्रम 'मन की बात' में मोदी ने कहा, 'अध्यादेश कल अप्रभावी हो जाएगा और हम इसे फिर से जारी नहीं करेंगे।'

पीएम मोदी की इसी बात पर हमला बोलते हुए नीतीश ने कहा, 'चले थे बिहार को ललकारने, आज घुटने टेकने पड़े।'