सेल्फी आत्म-अभिव्यक्ति का एक तरीका है: निनाद कार्पे

सेल्फी आत्म-अभिव्यक्ति का एक तरीका है: निनाद कार्पे

ऐप्टेक ऑनलाइन वर्सिटी द्वारा “सेल्फी में प्रो होना“ सिखाया जाएगा 

लखनऊ: ऐप्टेक के डिजिटल लर्निंग पोर्टल ’ऑनलाइन वर्सिटी’ नें  हाल ही में “प्रो जैसी सेल्फी कैसे लें“ नामक कोर्स की शुरुआत की है। ऑनलाइन वर्सिटी वेबसाइट पर साइन अप करके और लर्निंग पैकेज को खरीदकर इस 13 मिनट के कोर्स को प्राप्त किया जा सकता है। यह कोर्स ई-सर्टिफाइड है । इस कोर्स में सालाना 50,000 नामांकन का अनुमान है और इसमें व्यक्तिगत व ग्रुप सेल्फी में पारंगत बनाने की गारंटी दी जाती है। सेल्फी की लोकप्रियता के कई कारणों में से एक यह भी है कि वह हमें अपनी इच्छा के अनुसार दिखने का अवसर प्रदान करती है। यह हमें बहुत कम या बगैर किसी हस्तक्षेप के खुद को दुनियां के सामने पेश करने का अवसर प्रदान करते हैं।

ऐप्टेक लिमिटेड के एमडी और सीईओ निनाद कार्पे ने कहा, ‘‘मानवीय चेहरा संवाद का सबसे अच्छा साधन है और सेल्फी इस डिजिटल युग के सेल्फ पोर्टेट हैं। सेल्फी आत्म-अभिव्यक्ति का एक तरीका है - आपके अच्छे पक्ष को दर्शाने के लिए, मजा लेने के लिए या सोशल मीडिया हेतु बेहतरीन प्रोफाइल पिक्चर बनाने सहित कई कारणों से दुनिया भर में सेल्फी ली जाती है। यह उन यादों को बनाने का एक जरिया है जिसका हम अपनी रोजमर्रा के जीवन में अक्सर इस्तेमाल करते हैं, मरियम वेबस्टर डिक्शनरी ने सेल्फी शब्द जोड़ा है और इसको “विशेष तौर पर सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिए डिजिटल मीडिया का उपयोग करते हुए ली गई तस्वीर“ के तौर पर परिभाषित किया गया है।