'बजरंगी भाईजान' पर चली पाक सेंसर बोर्ड की कैंची

'बजरंगी भाईजान' पर चली पाक सेंसर बोर्ड की कैंची

मुंबई। ईद के मौके पर सलमान खान अपने फैंस को "बजरंगी भाईजान" का तोहफा दे रहे हैं। ये तोहफा भारत के साथ-साथ सरहद पार के फैंस के लिए भी है। भारत-पाकिस्तान के रिश्तों पर बनी ये पहली फिल्म है, जिसे पाकिस्तान में रिलीज करने की इजाजत मिल गई है। हालांकि पाक में पूरी फिल्म नहीं दिखाई जाएगी, इसके कुछ सींस हटा दिए जाएंगे।

"बजरंगी भाईजान" के कुछ सींस को पाकिस्तान सेंसर बोर्ड ने फिल्म से हटा दिया है। इन सींस के बिना फिल्म वहां रिलीज की जाएगी। इस फिल्म में सलमान बजरंग बली हनुमान के बड़े भक्त हैं, जो एक पाकिस्तानी बच्ची को वापस उसके वतन पहुंचाते हैं। बच्ची ठीक से बोल भी नहीं पाती है।

पाकिस्तान में ईद बहुत बड़ा त्योहार है। इस दिन वहां भी दो बड़ी फिल्में पाक एक्ट्रेस माहिरा की "बिन रोए" और "रॉन्ग नो" रिलीज होने वाली है। ऎसे में ईद पर इन फिल्मों को "बजरंगी भाईजान" से टक्कर भारी पड़ सकती है। इसी के चलते पाक फिल्म इंडस्ट्री के कई सितारे नहीं चाहते कि "बजरंगी भाईजान" ईद पर रिलीज हो।

हालांकि लाहौर सेंसर बोर्ड ने पाकिस्तान के पंजाब में अभी भी सलमान की "बजरंगी भाईजान" को हरी झंडी नहीं दिखाई है। इसके चलते फिल्म पाक के अन्य हिस्सों में रिलीज होगी। इससे पहले भारत-पाक पर बनी "बेबी", "हैदर", "एक था टाइगर", "तेरे बिन लादेन" जैसी भारतीय फिल्मों के पाकिस्तान में रिलीज पर रोक लगा दी गई थी।